उत्तराखंड में पौड़ी जिले के कोटद्वार में सोमवार देर रात दो पक्षों में हुई मारपीट के बाद मंगलवार को शहर में जमकर बवाल मचा। प्रशासन ने ऐहतियातन पूरे शहर में धारा 144 लगा दी है। मारपीट के सभी आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर सड़कों पर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया।

प्रदर्शनकारियों के बढ़ते बवाल को देखते हुए शहर के सभी बाजार बंद कर दिए गए। इसके बाद व्यापारियों में भी अफरा-तफरी मच गई। बवाल बढ़ते देख जिले के सभी थाना चौकियों की फोर्स कोटद्वार में तैनात कर दी गई, लेकिन प्रदर्शनकारियों के हंगामे के आगे पुलिस की एक नहीं चली। मजबूरन प्रशासन को शहर में धारा 144 लगानी पड़ी।

हालांकि इसके बावजूद प्रदर्शनकारी सड़कों पर डटे रहे और इस दौरान उन्होंने गोखले मार्ग की कई दुकानों में लूटपाट को अंजाम दिया। साथ ही कई दुकानों में तोड़फोड़ की भी खबर है। बवाल बढ़ने पर पुलिस को लाठीचार्ज कर प्रदर्शनकारियों तो तितर-बितर करना पड़ा।

कोतवाली में भी बीजेपी कार्यकर्ताओं की हंगामा
मारपीट के दूसरे आरोपियों की भी गिरफ्तारी की मांग को लेकर शहर में प्रदर्शन कर रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं पर पुलिस की लाठीचार्ज से आक्रोशित बीजेपी कार्यकर्ताओं ने कोतवाली का घेराव कर दोषी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने की मांग करते हुए सतपुली थाने की एक गाड़ी के कांच फोड़ दिए।

दूसरी ओर शहर में तनाव की स्थिति को देखते हुए पौड़ी के डीएम और एसपी ने कोटद्वार पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। स्थिति को नियंत्रण से बाहर होते देख हरिद्वार जिले से भी पुलिस फोर्स बुलाई गई। प्रदर्शनकारी बीजेपी कार्यकर्ताओं पर इसका भी कोई असर नहीं हुआ और वो सैकड़ों की संख्या में कोतवाली में कार्रवाई की मांग को लेकर डटे रहे।

मामूली विवाद ने पकड़ा तूल
गौरतलब है कि लकड़ी पड़ाव में मामूली विवाद के बाद हुई मारपीट में तीन लोगों पर धारदार हथियार से हमला किया गया था। इसमें एक घायल की स्थिति नाजुक होने के चलते उसको देहरादून रेफर करना पड़ा, जबकि एक घायल का कोटद्वार में इलाज चल रहा है और एक अन्य को प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई थी।

पीड़ित पक्ष की शिकायत पर पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है और उनकी गिरफ्तारी हो गई है, लेकिन दूसरे अज्ञात हमलावरों की गिरफ्तारी नहीं होने के चलते शहर में ये पूरा बवाल हुआ, जिसने बाद में बवाल ने राजनीतिक रंग ले लिया।

आपसी लड़ाई को सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश
उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत का कहना है कि कोटद्वार में दो लोगों की हिंसा को कुछ लोग सांप्रदायिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सांप्रदायिक हिंसा भड़काने की कोशिश करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करते हुए उन्हें सबक सिखाया जाएगा।