सांकेतिक तस्वीर (एक्सीडेंट की फाइल फोटो)

देहरादून।… उत्तराखंड में टिहरी जिले के घनसाली क्षेत्र में जाखणीधार ब्लॉक के स्यूरी-खबोगी मोटर मार्ग पर रविवार को एक कार के गहरे खड्ड में गिर जाने से उसमें सवार तीन व्यक्तियों की मृत्यु हो गई।

पुलिस के अनुसार, घटना बडोन गांव के करीब हुई जब कार में सवार होकर तीनों व्यक्ति प्रधान पति, उप्रधान और एक अध्यापक घनसाली की ओर जा रहे थे और उनकी कार अचानक अनियंत्रित होकर सड़क से फिसल गई और सीधे 200 मीटर गहरे खड्ड में जा गिरी।

दुर्घटना में स्यूरी के उपप्रधान 45 वर्षीय दरम्यान सिंह की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि कार चला रहे 42 वर्षीय प्रधान पति भीम सिंह और 49 वर्षीय सुंदर लाल की मौत अस्पताल में इलाज के दौरान हुई।

दुर्घटना का कारण ब्रेक फैल होना बताया जा रहा है। पुलिस ने शवों का पंचनामा कर पोस्टमार्टम के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बेलेश्वर भेज दिया। दुर्घटना से पूरे क्षेत्र में शोक की लहर है। हादसे का शिकार हुए सभी व्यक्ति घनसाली क्षेत्र के रहने वाले थे। सुंदर लाल बडोन गांव के प्राइमरी स्कूल में प्रधानाचार्य थे और पूरणपुर धामपुर यूपी के मूल निवासी थे।

भीम सिंह नई टिहरी में पुनर्वास निदेशालय में चतुर्थ श्रेणी के पद पर कार्यरत थे और रविवार का अवकाश होने के कारण शनिवार को जिला मुख्यालय से गांव गए थे। शिक्षक सुंदर लाल रविवार होने के चलते स्यूरी में तैनात अपने साथी शिक्षकों के पास मिलने जा रहा थे और करीब एक किमी पहले कार से लिफ्ट मांगी थी।

परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। घटना पर प्रतापनगर के विधायक विक्रम सिंह नेगी और स्थानीय लोगों ने गहरा दुख व्यक्त किया है।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने दुर्घटना पर गहरा दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को दु:ख की इस घड़ी में धर्य प्रदान करने की ईश्वर से कामना की है। उन्होंने टिहरी के जिलाधिकारी को मृतकों के परिजनों को तत्काल अनुमन्य राशि प्रदान करने को भी कहा है।