सांकेतिक तस्वीर

पहाड़ों की रानी कहे जाने वाले उत्तराखंड के मशहूर पर्यटन स्थल मसूरी घूमने आई सिलीगुड़ी (पश्चिम बंगाल) की एक महिला के साथ एक रिसॉर्ट में गैंगरेप का मामला सामने आया है। पीड़ित महिला को बदहवास हालत में छोड़कर आरोपी फरार हो गए।

पुलिस ने पीड़ित महिला का मेडिकल कराने के बाद मुकदमा दर्ज करके शुक्रवार देर शाम आरोपी दो होमगार्डों को गिरफ्तार कर लिया। चार आरोपियों की तलाश में दबिश चल रही है। रिसोर्ट के केयर टेकर को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

गैंग रेप की शर्मसार करने वाली ये वारदात मसूरी-धनोल्टी मार्ग पर मसराना स्थित विलेज रिसॉर्ट में गुरुवार देर रात हुई। पश्चिम बंगाल की सिलीगुड़ी निवासी 26 वर्षीय पीड़ित दिल्ली से 23 सितंबर को चली थी। 24 सितंबर की सुबह वह मसूरी पहुंची।

पीड़ित ने पुलिस को बताया कि व्हाट्स एप के जरिए मित्र बनी एक महिला से मिलने के लिए वह यहां आई थी। महिला मित्र का मोबाइल स्विच ऑफ होने के कारण दिनभर इधर-उधर घूमती रही।

इसी बीच शाम को एक युवक ने देहरादून छोड़ने का झांसा दिया। वह महिला को कार में बैठाकर दून के बजाए विलेज रिसोर्ट ले गया। इसी दौरान बाइक पर आए दो होमगार्ड भी उनसे मिल गए।

आरोप है कि डरा धमकाकर रात में छह लोगों ने उससे महिला के साथ रेप किया। देर रात जाते समय उसका मोबाइल और कई हजार रुपये भी ले गए। शुक्रवार सुबह होश में आने के बाद बाहर आई महिला ने लोगों को अपने साथ हुई घटना की जानकारी दी।

महिला पर्यटक से गैंगरेप की खबर मिलते ही पुलिस अधीक्षक नगर अजय सिंह, सीओ सिटी मनोज कत्याल, सीओ मसूरी रामेश्वर प्रसाद मौके पर पहुंच गए। पीड़ित की आपबीती सुनने के बाद पुलिस ने छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। शुक्रवार देर शाम पुलिस ने होमगार्ड जय पाल और रोशन को हिरासत में ले लिया। पुलिस बाकी चार आरोपियों की तलाश कर रही है।

एसपी सिटी अजय सिंह के अनुसार, घटनाक्रम में सात लोग शामिल हैं। इनमें से छह ने महिला के साथ रेप किया। रात के समय वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक पुष्पक ज्योति भी मसूरी पहुंच गए। क्षेत्रीय विधायक गणेश जोशी ने भी कप्तान से फोन पर बातकर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए कहा है।