सैन फ्रांसिस्को|… इंटरनेट सर्च इंजन गूगल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुंदर पिचई ने गुरुवार को कहा कि कंपनी भारत के साथ अपनी साझेदारी को बढ़ाना चाहती है, क्योंकि वह अपनी विस्तार योजना के लिए भारत को एक महत्वपूर्ण बाजार के रूप में देखती है। अपनी अमेरिका यात्रा में मोदी सिलिकॉन वैली की यात्रा करने वाले हैं।

पिचई ने यूट्यूब पर डाले गए पोस्ट में कहा, ‘हमें उम्मीद है कि आपकी यात्रा से वैली के लोगों को नया जोश मिलेगा, पूरे देश में भारतीय समुदाय के लोगों को एक नई ऊर्जा मिलेगी और हमारी साझेदारी मजबूत होगी।’

पीएम मोदी की इस यात्रा से फेसबुक और गूगल जैसी कंपनियों को भारत में सामने आने वाली बिजली की किल्लत, भूमि की अनुपलब्धता और श्रम कानून जैसी बाधाओं की ओर सरकार का ध्यान दिलाने का एक मौका मिला है।

पिचई ने कहा कि गूगल मोदी के डिजिटल भारत कार्यक्रम में हिस्सेदारी निभाने के लिए उत्साहित है। उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री मोदी का डिजिटल भारत दर्शन बदलाव के केंद्र में है और इसे भारत तथा सिलिकॉन वैली में काफी समर्थन मिला है।’

पिचई ने कंपनी के भारतीय कार्यक्रमों के बारे में कहा, ‘हम भारत में अपने उत्पादों को कम बैंडविड्थ पर काम करने लायक बनाने, यहां तक कि ऑफलाइन काम करने लायक बनाने, वेबसाइट को भारतीय भाषाओं में बनाने और भारतीय स्कूलों में सस्ती क्रोम किताबें उपलब्ध कराने जैसी कुछ प्रमुख योजनाओं पर काम कर रहे हैं।’

उन्होंने कहा, ‘अगले कुछ साल में पहली बार पांच करोड़ महिलाएं और दो करोड़ लघु उद्यम ऑनलाइन हो सकते हैं।’