मक्का।… सऊदी अरब में गुरुवार को मक्का के पास मीना में हज के दौरान भगदड़ मचने से 717 लोगों की मौत हो गई, जबकि 805 लोग घायल हो गए। मृतकों में एक भारतीय महिला भी शामिल है। घायलों में भी एक भारतीय शामिल है।

सऊदी अरब के नागरिक सुरक्षा निदेशालय के आधिकारिक ट्विटर एकाउंट पर बताया गया है कि मृतकों की संख्या बढ़कर 717 हो गई है। इनमें अलग-अलग देशों के नागरिक शामिल हैं। 805 हजयात्री घायल हुए हैं।

सऊदी अरब के नागरिक सुरक्षा अधिकारियों के मुताबिक, हादसा मक्का से पांच किलोमीटर दूर मीना नाम की जगह पर हुआ है। बीते नौ साल में हज के दौरान भगदड़ की घटना नहीं हुई थी। अभी यह साफ नहीं हो पाया है कि भगदड़ की वजह क्या थी?

hajj-stampede2
इस साल हज यात्रा के दौरान यह दूसरा बड़ा हादसा है। 11 सितंबर को मक्का की मुख्य मस्जिद में क्रेन गिरने से 107 लोगों की मौत हुई थी। इनमें 11 भारतीय शामिल थे। करीब 4,000 कर्मी और 200 आपात वाहन राहत और बचाव अभियान में लगाए गए हैं।

तेलंगाना राज्य हज समिति ने हैदराबाद में बताया कि मीना के हादसे में तेलंगाना की एक महिला की मौत हुई है। केरल के गृह मंत्री रमेश चेन्निथला ने मीडिया को बताया कि लक्षद्वीप का एक हजयात्री घायलों में शामिल है।

सऊदी नागरिक सुरक्षा के आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर पोस्ट की गई तस्वीरों में बचावकर्मियों से घिरे जख्मियों को स्ट्रेचर पर देखा जा सकता है। ‘बीबीसी’ की रपट के मुताबिक, बचाव कार्य जारी हैं। हादसा ईद-उल-अदहा पर्व के पहले दिन हुआ है।

राहतकर्मियों को घायलों को व्हीलचेयर पर ले जाते देखा जा रहा है। हर तरफ चीख-पुकार सुनाई दे रही है।
करीब 20 लाख लोग हज करने के लिए गए हैं। इनमें 136,020 भारतीय हैं। हज के दौरान सबसे भीषण हादसा 1990 में हुआ था जब भगदड़ में 1,400 से ज्यादा हजयात्रियों की मौत हुई थी।

hajj-stampede1

इस बारे में विरोधाभासी खबरें मिल रही हैं कि गुरुवार का हादसा किस जगह पर हुआ। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रपट के मुताबिक, सऊदी नागरिक सुरक्षा निदेशालय ने बताया कि भगदड़ शैतान को कंकड़ मारने के अनुष्ठान के दौरान हुई। हजयात्री एक खंभे पर कंकड़ फेंकते हैं जिसे शैतान का प्रतीक माना जाता है।

लेकिन, अल जजीरा की रपट के अनुसार, हादसा मीना में हजयात्रियों के शिविरों के बीच की एक सड़क पर हुआ। इस सड़क को सड़क नंबर 204 कहा जाता है। रपट में साफ किया गया है कि हादसा शैतान को कंकड़ मारने के अनुष्ठान के दौरान नहीं हुआ है।

नेशनल कांफ्रेंस नेता उमर अब्दुल्ला और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने हादसे पर शोक जताया है और कहा है कि वे मृतकों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना कर रहे हैं। दोनों नेताओं ने घायलों के जल्द ठीक होने की कामना की।