नौकरी का झांसा देकर हरिद्वार लाई गई एक युवती को यहां एक होटल में दो युवकों ने बंधक बनाकर रखा और डरा-धमका कर गैंग रेप किया। आरोपियों ने पूरी रात युवती को अपनी हवस का शिकार बनाया। घटना मंगलवार रात की है।

बुधवार दोपहर पीड़ित युवती ने पुलिस कंट्रोल रूम में फोन करके पूरे मामले की जानकारी दी। नगर कोतवाली पुलिस ने तत्काल कार्रवाही करते हुए पीड़ित युवती को छुड़या और दोनों आरोपियों को दबोच लिया। पुलिस ने पीड़ित युवती की शिकायत के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

पुलिस ने बताया कि कंट्रोल रूम में एक युवती का फोन आया और उसने बताया कि दो युवकों ने उसे बंधक बनाकर पूरी रात उसके साथ बलात्कार किया। जिस हाटल में उसे रखा गया था उसकी लोकेशन पुलिस को बताई। पुलिस ने तुरंत कार्रवाही करते हुए दूधाधारी चौक स्थित होटल प्लाजा से युवती को बरामद किया और दोनों आरोपियों को दबोच लिया।

कोतवाली में पुलिस को जानकारी देते हुए यमुनानगर निवासी युवती ने बताया कि वह नौकरी की तलाश कर रही थी। एक महीने पहले उसके एक रिश्तेदार ने सोनीपत हरियाणा निवासी मंजीत पुत्र राजेन्द्र का फोन नम्बर देते हुए कहा कि यह तुम्हारी नौकरी लगवा देगा।

युवती ने मंजीत से सम्पर्क किया तो मंजीत ने नौकरी लगवाने का आश्वासन दिया फिर उसके बाद मंजीत और युवती की फोन पर बातचीत होने लगी। कुछ दिन पहले मंजीत ने युवती को हरिद्वार में नौकरी लगवाए जाने की बात कहते हुए पानीपत आने को कहा। पीड़ित युवती का कहना है कि वह मंगलवार को पानीपत पहुंच गई, जहां मंजीत ने कहा कि हरिद्वार चलना पड़ेगा। मंजीत अपने साथी गोविंद को भी साथ ले आया।

मंगलवार शाम वह तीनों दूधाधारी चौक स्थित होटल प्लाजा में पहुंचे जहां दो कमरे लिए गए। रात में मंजीत और गोविंद युवती के कमरे में आए और उसे जान से मारने की धमकी देते हुए दोनों ने पूरी रात उसके साथ बालात्कार किया।

युवती ने कहा कि दोनों लोग उसे पूरी रात डराते धमकाते रहे। इतना ही नहीं उन्होंने युवती का मोबाइल फोन भी छीन लिया। पुलिस ने युवती की शिकायत के आधार पर दोनों आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।