उत्तराखंड में डेंगू के मरीजों की तादात लगातार बढ़ती ही जा रही है। खासकर नैनीताल जिले के हल्द्वानी शहर में डेंगू और दिमागी बुखार का प्रकोप खासा बढ़ गया है। राजकीय मेडिकल कॉलेज के सुशीला तिवारी अस्पताल में दिमागी बुखार से पीड़ित भर्ती एक महिला मरीज की बीती मौत भी हो गई है। 55 वर्षीय मुख्तारी ऊधमसिंह नगर जिले की रहने वाली थी।

एसटीएच में अब भी डेंगू के कई मरीजों का इलाज चल रहा है, जिसमें बच्चे भी शामिल हैं। जबकि एक दर्जन से ज्यादा डेंगू के संदिग्ध मरीज भी अस्पताल में भर्ती हैं, इनमें अभी डेंगू की पुष्टि नहीं हुई है। अस्पताल में दिमागी बुखार के भी करीब एक दर्जन मरीज भर्ती हैं, जिनका इलाज किया जा रहा है।

चिकित्सा अधीक्षक डॉ ए.के. पाण्डेय के अनुसार अस्पताल में भर्ती डेंगू व दिमागी बुखार के सभी मरीजों का समुचित इलाज किया जा रहा है। उन्होंने स्थिति के नियन्त्रण में होने का भी दावा किया है। वहीं अस्पताल में भर्ती कुछ मरीजों ने इलाज में लापरवाही का भी आरोप लगाया है।

डेंगू को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने भी अलर्ट जारी कर दिया है। इसके साथ ही मुख्यमंत्री हरीश रावत भी स्वास्थ्य महकमे को मॉनीटरिंग सेल बनाकर स्थिति पर नजर रखने के निर्देश पहले ही दे चुके हैं। वहीं ब्लड बैंक वाले अस्पतालों को भी ब्लड के लिए तैयारी रखने को कहा गया है।