चर्चा के जरिए सुलझाएं सार्वजनिक मुद्दे, काम में अडंगा ना लगाएं : राज्यपाल

देहरादून।… सरकार और विपक्ष को लोकतंत्र के दो आवश्यक खंभे बताते हुए उत्तराखंड के राज्यपाल कृष्णकांत पाल ने मंगलवार को कहा कि लोक हित के मामलों को चर्चा के जरिए सुलझाना चाहिए, कार्यवाही में व्यावधान के जरिए नहीं।

उत्तराखंड के उत्कृष्ट विधायकों को सम्मानित करने के लिए आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बोलते हुए पाल ने कहा कि विधायक जनता की आकांक्षाओं के प्रतिबिंब होते हैं और सरकार तथा विपक्ष दोनों के सदस्य महत्वपूर्ण होते हैं।

उन्होंने कहा, ‘जनता विधानसभा में अपने प्रतिनिधियों के माध्यम से शासन करती है और उनसे आशाएं रखती है। विधानसभा के सदस्यों के कंधों पर बड़ी जिम्मेदारी होती है। उन्हें अच्छा व्यवहार करना चाहिए।’

राज्य सरकार द्वारा दिया जाने वाला उत्कृष्ट विधायक पुरस्कार.. जोत सिंह गुनसोला, अमृता रावत, मदन कौशिक और इन्द्रा हृदयेश को क्रमश: साल 2010, 2011, 2012 और 2013 के लिए दिया गया।