खुशखबरी : अब घर बैठे होंगे काम, RTO ऑफिस हुआ ऑनलाइन

उत्तराखंड में जिन लोगों का कोई भी काम आरटीओ कार्यालय से पड़ता है, उनके लिए खुशखबरी है। अब आरटीओ कार्यालय ऑनलाइन हो गया है। इससे टैक्स जमा करने से लेकर परमिट, गाड़ी ट्रांसफर कराने के लिए अब आरटीओ के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे।

वैसे बता दें कि अभी इसके लिए आम लोगों को कुछ और दिनों का इंतजार करना पड़ेगा, हालांकि अभी सिर्फ देहरादून के लिए यह व्यवस्था की गई है, लेकिन जल्द ही पूरे राज्य के आरटीओ ऑनलाइन होंगे।

ऑनलाइन व्यवस्था होने से आरटीओ में कार्यरत कर्मियों को काफी फायदा मिलेगा। शुक्रवार को इसकी विधिवत शुरुआत कर दी गई है। पिछले चार अगस्त को नए रजिस्ट्रेशन के साथ आरटीओ ने ऑनलाइन होने की दिशा में जो कदम बढ़ाया था, शुक्रवार को वह मंजिल पर पहुंच गया।

गलती होने पर सॉफ्टवेयर तुरंत पकड़ लेगा
आरटीओ में हर कार्य अब ऑनलाइन होगा, इसका लिंक दिल्ली हेडक्वार्टर से जुड़ा होगा। गलत एंट्री होने पर सॉफ्टवेयर तुरंत बता देगा। एआरटीओ प्रशासन संदीप सैनी ने बताया कि आनलाइन चेसिस नंबर डालते ही निर्माता कंपनी का नाम, गाड़ी का कलर, पावर, व्हील की डिटेल कंप्यूटर स्क्रीन पर तुरंत आ जाएगी।

ऑनलाइन टैक्स जमा कराने के बाद आपको जो स्लिप मिली, वो असली है या नकली, उसकी जांच आप स्वयं अपने स्मार्ट फोन पर क्यू आर कोड ऐप के जरिए कर सकेंगे। शुल्क ऑनलाइन जमा होते ही आपको मैसेज आएगा और फाइल प्रोसेस की जानकारी भी हर काउंटर बदलने पर मिल जाएंगी। काम पेडिंग होने पर इसका भी पता एसएमएस से चल जाएगा।

हल्द्वानी-ऊधमसिंह नगर भी होंगे ऑनलाइन
जल्द ही उत्तराखंड राज्य के सभी आरटीओ कार्यालय ऑनलाइन होने है। अगली कड़ी में जल्द ही हल्द्वानी और ऊधमसिंह नगर के आरटीओ कार्यालय ऑनलाइन होंगे। संदीप सैनी ने बताया कि लाइसेंस छोड़कर कार्यालय का सारा कार्य ऑनलाइन हो गया है। इससे कर्मियों के साथ ही जनता को भी राहत मिलेगी। जल्द ही आम जनता भी आरटीओ के कार्य ऑनलाइन कर पाएगी। इसकी प्रक्रिया जारी है।