आज नेताजी की मौत से पर्दाफाश होगा?

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मौत की जानकारी से जुडी लगभग 64 गोपनीय फाइलों को खोलने का एलान ममता बेनर्जी ने कुछ समय पहले किया था इसी के तहत इन फाइलों को पश्चिम बंगाल सरकार आज सार्वजनिक करेगी। राज्य सरकार के पास 64 फाइलें मौजूद है, जो 1937 – 1947 के बीच की है जिसमे कुछ हस्तलिखित नोट भी है।

एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक इन फाइलों में ऐसे सबूत हैं जिनसे यह पता चलता है कि नेताजी कम से कम 1964 तक जीवित थे। फाइलों में 1960 के दशक में तैयार की गई एक अमेरिकी रिपोर्ट में भी है जिसमें बताया गया है कि नेताजी फरवरी 1964 में भारत लौटे थे।

अंग्रेजी न्यूज़पेपर के अनुसार, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के प्रकाशन विभाग के आह्यू हियन कुआन ने नेताजी के भतीजे अमिय नाथ बोस को एक पत्र लिखा था। जिसमें लिखा था कि ‘मुझे खेद है कि मैं नेताजी के बारे में वह न्यूज नहीं ढूंढ़ पाया जो चीनी अखबार कुछ समय पहले छपी थी। लेकिन मुझे पूरा यकीन है कि वो अभी भी जिन्दा हैं।’

यह भी संभव है कि इन फाइलों के सार्वजनिक होने के बाद 1945 में ताइपेई के विमान दुर्घटना में मौत हुई या नहीं हुई, इस पर फिर से बहस ताजा हो जाए।