उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण दत्त तिवारी ने सोमवार को अपनी पत्नी उज्जवला शर्मा और पुत्र रोहित शेखर के साथ कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से उनके आवास दस जनपथ (नई दिल्ली) पर मुलाकात की।

करीब 45 मिनट तक चली मुलाकात में एनडी तिवारी ने पुराने दिनों को याद किया। मुलाकात के दौरान भावुक हुए तिवारी ने कहा कि यहां आकर महात्मा गांधी और पंडित जवाहर लाल नेहरू की स्मृतियां तरो-ताजा हो गईं।

एनडी तिवारी ने अपने बेटे उत्तर प्रदेश परिवहन निगम के सलाहकार रोहित शेखर को सोनिया गांधी से आशीर्वाद भी दिलाया। हाल के दिनों में सपा से करीबी रखने वाले तिवारी की सोनिया गांधी से अचानक मुलाकात ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की राजनीति में एक बार फिर हलचल पैदा कर दी है।

माना जा रहा है कि वह अपने पुत्र रोहित शेखर के राजनीतिक भविष्य को लेकर चिंतित हैं और सोनिया गांधी से मुलाकात कराकर उत्तराखंड में होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए बेटे की दावेदारी सुनिश्चित कराना चाह रहे हैं। हालांकि उज्जवला ने इस मुलाकात को शिष्टाचार बताते हुए यादगार और सुखद कहा।