ऑस्कर अवॉर्ड विजेता इटली के एक्टर सिदरेना को 11वीं बार खींच लाई गंगोत्री घाटी की खूबसूरती

देवभूमि उत्तराखंड की खूबसूरती किसी को भी अचंभित कर देती है। गंगा-यमुना की जननी इस धरती में जो भी एक बार आ जाता है, वो यहीं का होकर रह जाता है। इटली के ऑस्कर अवॉर्ड विजेता जोजपे सिदरेना भी कुछ इसी तरह उत्तराखंड और खासकर उत्तरकाशी की गंगा वैली की खूबसूरती को देख अभिभूत हैं।

जोजपे साल 1999 में एक बार गंगोत्री, गोमुख की यात्रा पर आए थे और तब से ग्यारह बार गंगोत्री घाटी की यात्रा कर चुके हैं। जोजपे एक बार फिर अपने साथियों के साथ गंगोत्री घाटी के भ्रमण पर हैं।

जोजपे कहते हैं कि ये घाटी उनके दिल में बसती है। जोजपे ने इटली में माई ट्रिप टू गढ़वाल नामक एक कहानी भी लिखी है। बतौर जोजपे इसे इटली में बेहद पसंद किया गया है और यही नहीं जोजपे इटली में घूम-घूमकर उत्तराखंड की खूबसूरत इस अद्वितीय गंगोत्री घाटी के बारे में लोगों को बताते हैं।

जोजपे इस बार 11वीं बार गंगोत्री घाटी के भ्रमण पर हैं। जोजपे गंगोत्री, गौमुख और इससे भी आगे तपोवन तक का पैदल ट्रैक का सफर करेंगे।