देहरादून।… उत्तराखंड में वरिष्ठ नागरिकों में आत्मविश्वास का संचार करने और उनके अनुभवों का उपयोग करने के लिए राज्य में ‘सीनियर सिटीजन काउंसिल’ बनाए जाने के साथ ही अलग से एक वरिष्ठ नागरिक नीति भी बनाई जाएगी।

देहरादून में जारी एक सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, फेडरेशन ऑफ सीनियर सिटीजन एसोसिएशन ऑफ उत्तराखंड के वार्षिक अधिवेशन में बतौर मुख्य अतिथि बोलते हुए मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों के लिए काउंसिल और नीति बनाने में वरिष्ठ नागरिकों के सभी संगठनों का सहयोग लिया जाएगा।

उन्होंने कहा कि बड़ी नगरपालिकाओं में ‘सीनियर सिटीजन पार्क’ विकसित किए जाएंगे। उन्होंने फेडरेशन के लिए पांच लाख रुपये दिए जाने की भी घोषणा की।

रावत ने कहा कि इस बात पर भी चिंतन किया जाना चाहिए कि वरिष्ठ नागरिकों के अनुभवों के इतने बड़े खजाने का उपयोग राज्य के लिए कैसे हो सकता है। उन्होंने कहा कि सरकार एक ऐसी नीति बनाने की कोशिश कर रही है, जिससे वरिष्ठ नागरिकों में आत्मविश्वास का संचार हो और उनके अनुभवों का उपयोग हो सके।

सरकार द्वारा शुरू की गई ‘हमारे बुजुर्ग हमारे तीर्थ’ योजना का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका उद्देश्य हमारे बुजुर्गों को यह विश्वास दिलाना था कि राज्य अपने बुजुर्गों का सम्मान करता है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार, सभी बुजुर्ग महिलाओं को पौष्टिक आहार घर पहुंचाने की योजना भी प्रारम्भ की गई है।