विकासनगर : नहर के तेज बहाव में बहे दो छात्र, घर में छाया मातम

देहरादून जिले में विकासनगर क्षेत्र की एक नहर में नहाने उतरे एक ही स्कूल के तीन छात्र तेज बहाव की चपेट में आकर बह गए। इनमें से एक छात्र तो किसी तरह किनारे आ गया, लेकिन दो बहाव से खुद को बचा नहीं पाए।

पुलिस ने दोनों छात्रों के शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए हैं। छात्रों की मौत से घर में मातम छा गया है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। दोनों गुरु नानक मिशन इंटर कॉलेज विकासनगर के छात्र थे।

खबर के मुताबिक शनिवार सुबह तीन छात्र साइकिल से शक्ति नहर पुल नंबर दो पर पहुंचे। जहां वे नहाने के लिए नहर में उतर गए। नहाते समय उनका दम फूलने लगा। संजय गौड़ (14) निवासी डिमिच हाल, चिरंजीपुर किसी तरह बाहर निकल गया।

संजय ने आवाज लगाकर डूब रहे अपने साथी विशेष रावत उर्फ मनीष (16) पुत्र मोहन सिंह निवासी गांवखेत कैंपटीफॉल टिहरी और मुकुल (14) पुत्र रामानंद निवासी डांडा चिरंजीपुर को हिम्मत जुटाते रहने को कहा, लेकिन धीरे-धीरे दोनों का दम फूलने लगा। उन्होंने हाथ पांव मारने छोड़ दिए।

पहले विशेष डूबा और करीब 100 मीटर आगे मुकुल भी तेज बहाव में लापता हो गया। घटना की जानकारी संजय गौड़ ने आसपास के लोगों को दी। सूचना पर पहुंचे सीओ स्वप्न किशोर सिंह ने घटना स्थल का निरीक्षण किया।

देर शाम तक दोनों छात्रों के शव बरामद कर लिए गए। सीओ ने बताया कि मृत दोनों छात्र अभी अच्छी तरह से तैरना नहीं जानते थे। विशेष अपने मामा बचन सिंह पुंडीर के यहां रहकर पढ़ाई कर रहा था। वह 11वीं का छात्र था। मुकुल आठवीं का छात्र था। बताया जाता है क‌ि पैरेंट्स मीटिंग होने की वजह से तीनों स्कूल नहीं गए।

प्रत्यक्षदर्शी किशोर शेखर निवासी लाइन जीवनगढ़ ने बताया कि उसने नहर के तेज बहाव को देखते हुए छात्रों को नहर में उतरने से मना किया था, लेकिन तीनों नहीं माने और नहाने के लिए तेज धारा में उतर गए।

संजय गौड़ को अपने साथी दोस्तों के न बचने का मलाल है। उसने दोनों को बचाने की खूब कोशिश की, लेकिन तेजधारा के आगे उसकी एक ना चली। उसकी आंखों के सामने ही दोनों दोस्त पानी में समा गए। दोस्तों के बारे में पूछे जाने पर संजय कई बार फफक-फफक कर रो पड़ा। नहाने गए कुछ और साथियों का भी यही हाल है।