पति की नाइट ड्यूटी लगाकर महिला से किया रेप, दोषी को 10 साल की जेल

रेप के अनोखे मामले में अपर एवं जिला सत्र न्यायाधीश मोहम्मद सुल्तान की अदालत ने दोषी को 10 साल के सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। इसके अलावा इस पर 25 हजार रुपये का आर्थिक दंड भी लगाया गया है। आर्थिक दंड न देने पर छह महीने का अतिरिक्त कारावास भोगना होगा।

देहारादून जिले के विकासनगर में बीते साल 31 अगस्त की रात को आरोपी धनेंद्र पुत्र हर प्रसाद निवासी ठिरया थाना नवाबगंज बरेली उत्तर प्रदेश ने एक नवविवाहिता से तमंचे के बल पर बलात्कार किया था। डर के चलते महिला बरेली लौट गई थी। आरोपी भी महिला का परिचित ही था।

बरेली के एसएसपी के हस्तक्षेप के बाद सहसपुर पुलिस ने वारदात के छह दिन बाद आरोपी के खिलाफ रेप एवं जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज किया था।

सहायक जिला शासकीय अधिवक्ता नरेश बहुगुणा ने बताया कि आरोपी महिला का परिचित था। महिला के पति को नौकरी दिलाने के नाम पर उसने दोनों को सेलाकुई बुलाया। जहां उन्हें अपने किराए के कमरे पर रखा।

आरोपी ने महिला के पति की नौकरी उसी कंपनी में लगवाई, जहां आरोपी स्वयं नौकरी करता था। आरोपी ने महिला के पति की नाइट ड्यूटी लगाई थी। इसी का फायदा उठाकर उसने नवविवाहिता से रात के समय रेप किया। तमंचा दिखाकर जान से मारने की धमकी भी दी थी।

मामले में कोर्ट में छह गवाहों ने गवाही दी। जिसके बाद कोर्ट ने आरोपी को दोषी पाते हुए 10 साल के सश्रम कारावास और 25 हजार के आर्थिकदंड की सजा सुनाई।