नाबालिग पत्नी से देह व्यापार कर रहा था पति, किसी तरह चंगुल से भाग निकली

देहरादून जिले के चकराता क्षेत्र की एक किशोरी का पति उससे देह व्यापार कर रहा था। पति की इस ज्यादती से तंग आगर किशोरी किसी तरह उसके चंगुल से भाग निकली और मायके पहुंच गई। पीड़िता की शिकायत पर पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

बता दें कि क्षेत्र के एक गांव की 12 वर्षीय किशोरी के पिता की कुछ साल पहले मौत हो गई थी। इस पर उसकी मां ने दूसरी शादी कर ली। उसने अपनी नाबालिग बेटी की इच्छा के खिलाफ करीब साढ़े तीन साल पहले सुभाष निवासी ग्राम खेड़ी थाना दादरी गाजियाबाद से शादी करा दी। किशोरी की एक बेटी भी हुई। इसके बाद पति उससे देह व्यापार कराने लगा।

किशोरी किसी तरह उसके चंगुल से भागकर अपने मायके आई। उसने मां व मामा को पूरा मामला बताया, लेकिन दोनों ने उसकी मदद नहीं की। परेशान किशोरी ने राजस्व पुलिस से शिकायत की, जिस पर मामला दर्ज किया गया। राजस्व पुलिस में महिला दरोगा न होने पर मामला विकासनगर कोतवाली पुलिस को ट्रांसफर हो गया।

जांच के बाद इस मामले में मानव तस्करी की धाराओं के साथ ही पाक्सो एक्ट भी लगाया गया। जांच अधिकारी प्रतिभा ने बताया कि जब केस की जांच की तो दीवान भारती पुत्र रतिराम निवासी बराड़ कालसी का नाम भी सामने आया। मानव तस्करी के आरोपी दीवान को पुलिस ने साहिया से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। इस मामले में बाकी आरोपियों ने कोर्ट से गिरफ्तारी पर स्टे आर्डर लिया हुआ है।