इन दिनों उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून को स्मार्ट सिटी बनाने की कवायद चल रही है। जाहिर सी बात है, शहर स्मार्ट होगा तो पुलिस को भी स्मार्ट और तेज-तर्रार होना चाहिए। लेकिन सोमवार को देहरादून पुलिस की जो तस्वीर सामने आई वह कहीं ले भी स्मार्ट व तेज-तर्रार नजर नहीं आ रही।

अब आप ही सोचिए देहरादून के एसपी सिटी की स्मार्ट स्कॉर्पियो ही धोखा दे जाए तो फिर शहर को स्मार्ट बनाने के दावों पर तो शक होगा ही। भरी दोपहर में एसपी सिटी अजय सिंह, मुख्यमंत्री हरीश रावत के काफिले में सहस्त्रधारा हेलीपैड तक उन्हें छोड़ने गए थे। काफिले की गाड़ियां एक तरफ खड़ी हो गयीं। एसपी सिटी की स्कॉर्पियो भी खड़ी हो गयी। सीएम के हेलीकॉप्टर ने भी सिल्ट के लिए उड़ान भर ली।

इसके बाद जो भी लोग मुख्यमंत्री को सी-ऑफ करने आए थे, वापस जाने लगे। एसपी सिटी साहब भी स्कॉर्पियो पर सवार हो गए, लेकिन अगले ही पल वापस गाड़ी से उतरना पड़ा। वजह साफ थी ड्राईवर ने चाभी घुमाई लेकिन स्कॉर्पियो स्टार्ट ही नहीं हुई। बाकायदा वहां मौजूद लोगों ने धक्का लगावाया गया, तब जाकर स्कॉर्पियो स्टार्ट हुई और स्मार्ट सिटी के एसपी सिटी अजय सिंह उसमें बैठकर रवाना हुए।