उत्तराखंड में मसूरी स्थित IAS अकादमी में सोमवार को उस समय हंगामा मच गया, जब खुद को IFS (इंडियन फॉरेस्ट सर्विस) का अधिकारी बताने वाला एक युवक ट्रेनिंग करने के नाम पर अकादमी पहुंच गया। लखनऊ का रहने वाला यह युवक खुद को आईएफएस में चयनित होने वाला उम्‍मीदवार बता रहा था।

ज्ञात हो कि कुछ महीने पहले ही LBS अकादमी में चर्चित फर्जी आईएस रूबी चौधरी का मामला सामने आया था। कथित आईएफएस अपना नाम रोमी महेंद्रू और पता 1085, इंद्रा नगर, लखनऊ बता रहा था। युवक का कहना था कि आईएफएस में उसका चयन हुआ है।

युवक का कहना है कि वह ट्रेनिंग के लिए अकादमी में आया है। युवक बार-बार अकादमी के गेट पर अपने ट्रेनिंग पत्र के लिए पूछताछ कर रहा था। डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनेल एंड ट्रेनिंग (DOPT) से कोई पत्र या फैक्स ना आने की वजह से मामला संदिग्ध नजर आ रहा है।

lbsa-s

खुद को IFS क्वालिफाई बताने वाले इस युवक को मसूरी पुलिस ने थाने ले जाकर पूछताछ भी की है। गौरतलब है कि रूबी चौधरी नामक महिला को अभी कुछ महीनों पहले LBS Academy में फर्जी तरीके से IAS की ट्रेनिंग करते हुए पकड़ा गया था।

जानकारी के मुताबिक, रोमी महेन्द्रू फर्जीवाड़ा कर लाल बहादुर शास्त्री एकेडमी में ट्रेनिंग करने की फिराक में था। लेकिन रूबी प्रकरण के सामने आने के बाद एकेडमी की साख बरकरार रखने के लिए सक्रिय प्रशासन ने ट्रेनिंग शुरू होने से पहले ही उसको पुलिस के हवाले कर दिया। मसूरी कोतवाली में एकेडमी की ओर से रोमी के खिलाफ लिखित शिकायत दी गई है।

चर्चित फर्जी आईएएस प्रकरण के बाद अकादमी प्रशासन और पुलिस कोई कोताही नहीं बरत रहे हैं। यही वजह है कि इस मामले में भी पुलिस फूंक-फूंक कर कदम रख रही है। पूछताछ के बाद आखिर पुलिस किस नतीजे पर पहुंचती है यह देखने वाली बात होगी।