आज कृष्ण जन्माष्टमी है यानी भगवान श्रीकृष्ण का जन्मदिन। इस मौके पर पूरे देश में भगवान कृष्ण के भक्तों में खासा उत्साह है। उत्तराखंड के तमाम शहरों और गावों में भी जन्माष्टमी की रौनक दिख रही है। इस दिन हर उम्र के लोग व्रत रखकर बाल-गोपाल के प्रति अपनी आस्था प्रकट कर रहे हैं।

भगवान श्रीकृष्ण की जन्मस्थली मथुरा में उनके जन्मदिवस के मौके पर जबरदस्त तैयारियां की गई है। यहां आस्था का जनसैलाब दिख रहा है। पूरे मथुरा शहर में दीवाली जैसा माहौल है।

शनिवार को मथुरा में सुबह से ही लाखों भक्तों के जुटने लगे और देर रात तक यही सिलसिला जारी रहने की उम्मीद है। इसलिए यहां सुरक्षा के भी चाक चौबंद इंतजाम किए गए हैं। प्रत्येक व्यक्ति की सघनता से जांच की जा रही है। होटल, ढाबों पर भी चैंकिंग की जा रही है।

इस मौके पर मथुरा में देश और दुनिया से लाखों की संख्या में भक्त के आ रहे हैं, श्रीकृष्ण जन्मभूमि पर भक्तों की लंबी-लंबी कतारें लगी हुई हैं। कृष्ण जन्मभूमि परिसर ही नहीं पूरे मथुरा में दीवाली जैसा महौल बना हुआ है।

Sri-Krishna-Janmashtami

इस बार जन्मभूमि में भक्तों के आने की बात की जाए तो पिछले साल तीस लाख से ज्यादा भक्त जन्माष्टमी के दिन कृष्ण के दर्शन करने आए थे और इस बार भी पचास लाख से ज्यादा भक्तों के आने की उम्मीद की जा रही है।

बाजारों में रौनक
लोग जन्माष्टमी के पूजन के लिए झूले, वस्त्र, श्रृंगार और पूजन सामग्री की खरीददारी में जुटे हैं, जिससे बाजारों में खूब चहल-पहल देखी जा रही है। इसके साथ ही कृष्ण जन्माष्टमी के मौके पर बच्चों को राधा-कृष्ण के रूप में सजाने के लिए तरह-तरह के ड्रेस की भी खूब डिमांड बनी हुई है।

इस मौके पर लोग जहां घरों में पूजा अर्चना करते हैं, वहीं रात 12 बजे भगवान कृष्ण को झूला झुलाकर कृष्ण जन्मोत्सव का पर्व भी मनाते हैं। इस मौके पर शनिवार को शहर व गावों में कई कार्यक्रमों का भी आयोजन किया जा रहा है।

आज जन्मेंगे कान्हा, द्रोणनगरी ने बिछाए पलक-पांवड़े

जन्माष्टमी के मौके पर द्रोणनगरी देहरादून कृष्णमय हो गई है। तमाम मंदिर भव्य सजे हैं और गली-गली, घर-घर तैयारियां जोरों पर हैं। कई मंदिरों में तो सुबह से ही जन्माष्टमी महोत्सव शुरू हो गया और भक्ति में चूर होकर श्रद्धालु भजनों पर झूमने लगे। शुक्रवार को विभिन्न स्कूलों में धूमधाम से जन्माष्टमी का त्योहार मनाया गया। बच्चों ने राधा, कृष्ण आदि बनकर भव्य झांकी प्रस्तुत की, जिसने सभी का मन मोह लिया।

झांकियों ने मोहा मन
श्री सनातन धर्म मंदिर प्रेमनगर में चल रहे महोत्सव के तीसरे दिन भव्य शोभायात्रा निकाली गई। शोभायात्रा में भगवान श्रीकृष्ण के जीवन से जुड़ी एक दर्जन से अधिक झांकियां आकर्षण का केंद्र रहीं। इनमें कृष्ण जन्म, गोवर्धन पर्वत उठाते भगवान, कंस वध, गोपियों संग प्रभु की लीला आदि शामिल थीं। मंदिर से शुरू हुई शोभायात्रा प्रेमनगर के विभिन्न मार्गो से होते हुए मंदिर में आकर संपन्न हुई। विभिन्न जगहों पर यात्रा का फूलों की वर्षा से स्वागत किया गया। प्रेमनगर चौक पर श्रीकृष्ण रासलीला की प्रस्तुति ने श्रद्धालुओं को भावविभोर कर दिया और देखने वालों की भारी भीड़ उमड़ी। बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति भी दी।

भजनों पर झूमे श्रद्धालु
पटेल नगर स्थित श्री श्याम सुंदर मंदिर में जन्माष्टमी महोत्सव के दूसरे दिन बरेली से आए मलिक बंधु ने भजनों की प्रस्तुति से श्रद्धालुओं को खूब झुमाया। युधिष्ठिर मलिक और सुनील मलिक ने ‘सब खुशी करो नर-नारी, आज प्रकटे कृष्ण मुरारी’, ‘जिस देश-जिस वेश में रहो, राधा-रमण कहो’, ‘हरे कृष्ण हरे कृष्ण कृष्ण कृष्ण हरे हरे..’ आदि भजनों की प्रस्तुति दी। शनिवार को कुरुक्षेत्र से राजेंद्र पराशर प्रस्तुति देंगे।

अभिनव-जाह्नवी ने फोड़ी हांडी
स्वामी विवेकानंद पब्लिक स्कूल कृष्णा नगर में हुई दही हांडी प्रतियोगिता हुई। इसमें राधा और कृष्ण के रूप में सजकर आए नन्हें बच्चों ने हिस्सा लिया। नर्सरी के अभिनव और जाह्नवी ने हांडी फोड़ी। प्रतियोगिता में हिस्सा लेने वाले बच्चों को पुरस्कृत भी किया गया।

प्रेम से रहने का संदेश दिया
शैमरॉक सनसाइन स्कूल रेसकोर्स में आयोजित ‘बालसखा’ कार्यक्रम में शिक्षकों ने बच्चों को कृष्ण-सुदामा मित्रता की कहानी सुनाई। साथ ही बच्चों को भाईचारे और प्रेम से रहने का संदेश दिया। इस दौरान मटकी फोड़ प्रतियोगिता भी हुई।

सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम
श्री गुरुनानक दून वेल स्कूल रेसकोर्स में जन्माष्टमी पर्व पर छात्रों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति से समां बांध दिया। छात्रों ने आर्ट एवं क्राफ्ट प्रदर्शनी भी लगाई।

भव्य अभिषेक होगा
श्री पृथ्वीनाथ महादेव मंदिर में जन्माष्टमी यानी आज भव्य झांकियां प्रदर्शित होंगी। शनिवार को मध्य रात्रि में लड्डू गोपालजी का भव्य अभिषेक किया जाएगा। साथ ही मथुरा-वृंदावन के कलाकार भव्य रासलीला की प्रस्तुति देंगे।

चित्रकला प्रतियोगिता हुई
संस्कार परिवार सेवा समिति की ओर से टपकेश्वर कॉलोनी में चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित की गई। बच्चों ने भगवान श्रीकृष्ण और गाय विषय पर चित्रों को कैनवास पर उकेरा। समिति के अध्यक्ष आचार्य बिपिन जोशी ने भगवान श्री कृष्ण से जुड़ी कई कथा सुनाईं।

कथा श्रवण से दुखों का होता है नाश
प्राचीन श्री शिव मंदिर धर्मपुर में चल रही श्रीमद् भागवत कथा में पं.सुभाष जोशी ने कहा कि मोक्ष की प्राप्ति की चाह रखने वाले मुनष्य को भागवत कथा का श्रवण करना चाहिए। भागवत कथा दुखों का नाश करती है, संसार के राग-द्वेष नष्ट करती है। साथ ही जीवन जीने का सद्मार्ग दिखाती है। जीवन मुक्ति एवं विलक्षण सुख भागवत का सार है।

प्रभात फेरी निकाली
गीता भवन मंदिर की ओर से श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के उपलक्ष्य में शुक्रवार को प्रभात फेरी निकाली गई। श्रद्धालु ठाकुरजी की डोली लेकर भजन गाते हुए चल रहे थे। गीता भवन से शुरू हुई प्रभात फेरी प्रिंस चौक, सहारनपुर चौक, झंडा बाजार, तिलक रोड, चकराता रोड, घंटाघर होते हुए वापस गीता भवन पहुंची।

आकर्षण का केंद्र बनेंगी झांकियां
तिलक रोड स्थित श्री गंगाजी मंदिर में जन्माष्टमी पर्व हर्षोल्लास के साथ मनाया जाएगा। इसके लिए मंदिर को भव्य सजाया गया है। शनिवार और रविवार दोनों दिन कार्यक्रम आयोजित होंगे। इसमें श्री कृष्ण की लीलाओं पर आधारित झांकियां आकर्षण का केंद्र होंगी। 11 सितंबर को भगवान कृष्ण की छठी के अवसर पर विशाल भंडारा होगा। शुक्रवार को मंदिर समिति की प्रेसवार्ता में यह जानकारी दी गई।

रासलीला से मन मोहा
ड्रीम फ्लावर्स स्कूल टैगोर विला में छात्र-छात्राओं ने रासलीला, राधा-कृष्ण नृत्य की शानदार प्रस्तुति दी। इस मौके पर स्कूल चेयरमैन किरन गर्ग, प्रधानाचार्य चारू चतुर्वेदी, मेघा, प्रियंका, श्वेता आदि मौजूद रहीं। उधर, सेंट ज्यूड्स स्कूल में भी धूमधाम से जन्माष्टमी पर्व मनाया गया।