जम्मू-कश्मीर में जम्मू क्षेत्र के हंदवाडा में आतंकवादियों के साथ हुई जबरदस्त मुठभेड़ में शहीद हुए उत्तराखंड के जवान मोहन नाथ गोस्वामी का शनिवार को नैनीताल जिले के लाल कुआं इलाके में अंतिम संस्कार कर दिया गया।

शहीद की अंतिम यात्रा में लगा जैसे पूरा हल्द्वानी शहर और लालकुआं उमड़ पड़ा। हर किसी ने शहीद गोस्वामी को नम आंखों से विदाई दी। शहीद के परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है। शुक्रवार शाम ही शहीद मोहन नाथ गोस्वामी का पार्थिव शरीर उनके निवास बिंदुखत्ता लाया गया था।

सेना की 9 पैरा के सूबेदार मेजर ने बताया कि मोहन नाथ गोस्वामी निवासी इंदिरानगर प्रथम बिंदुखत्ता नैनीताल 9 पैरा रेजीमेंट में जवान के पद पर तैनात थे। गुरुवार तड़के जम्मू के हंदवाडा में आतंकवादियों से सेना के जवानों की मुठभेड़ हुई। इसमें जवान मोहन नाथ गोस्वामी और उनकी टीम ने बहादुरी से लड़ते हुए चार आतंकवादियों को मार गिराए थे।

इस मुठभेड़ में जवान मोहन नाथ शहीद हो गए। शहीद मोहन की एक बेटी भी है और वे हाल ही में 15 अगस्त को छुट्टी बिताकर ड्यूटी पर लौटे थे।