विधानसभा अध्यक्ष कुंजवाल बोले – गैरसैंण ही बने स्थायी राजधानी

देहरादून।… उत्तराखंड विधानसभा अध्यक्ष और कांग्रेस नेता गोविंद सिंह कुंजवाल चाहते हैं कि राज्य की स्थायी राजधानी गैरसैंण को ही बनाया जाए। पर्वतीय क्षेत्रों खासकर सीमांत इलाकों से बड़े पैमाने पर हो रहे पलायन को रोकने और इससे भविष्य में देश की सुरक्षा पर मंडराने वाले खतरे को देखते हुए वह यह भी चाहते हैं कि इस मामले में सभी दल सर्वसम्मत फैसला लें।

उनका कहना है कि केंद्र और राज्य की सरकारें भी इस बारे में संजीदगी से विचार करें। राज्य में सत्तारूढ़ कांग्रेस के भीतर से ही गैरसैंण में ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाए जाने को लेकर आवाज बुलंद हो रही हैं। जाहिर तौर पर कांग्रेस के बड़े नेता इस मामले में साफतौर पर कुछ भी बोलने से भले ही बच रहे हों, लेकिन इससे बिल्कुल अलग विधानसभा अध्यक्ष गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाने के बारे में जल्द फैसला लेने की वकालत करते हैं।

पत्रकारों से बातचीत में विधानसभा अध्यक्ष गोविंद सिंह कुंजवाल ने कहा कि पहाड़ के बारे में गंभीरता से सोचने की जरूरत है। सीमांत गांवों में जिस तेजी से पलायन हो रहा है, उसे रोकना बेहद जरूरी है। पर्वतीय क्षेत्र में राजधानी बनने से पलायन पर काफी हद तक रोक लगेगी।

पर्वतीय क्षेत्रों के विकास को लेकर उदासीन रुख में तब्दीली आएगी। उत्तराखंड राज्य आंदोलन के पीछे भी जनभावना यही रही है। विधानसभा अध्यक्ष गैरसैंण में स्थाई राजधानी के मुद्दे पर सत्तारूढ़ कांग्रेस के साथ ही सभी दलों में आम सहमति के पक्षधर हैं।