लोगों को कई बार कहते सुना है कि अब ईमानदारी नहीं बची है। लगता है कुछ भले दिल के लोग उन लोगों को झूठा साबित करने में जुटे हैं। ये भले लोग अपनी ईमानदारी से किसी को भी चौंका देते हैं, नहीं हम यहा तथाकथित ईमानदार पार्टी और उसके नेताओं की बात नहीं कर रहे हैं।

अस्थायी राजधानी देहरादून की नेहरू कॉलोनी निवासी मेजर राहुल मेहता की पत्नी साइना मेहता ने ईमानदारी की नई मिसाल कायम की है। उन्हें रास्ते में एक पर्स मिला, जिसे उन्होंने संभालकर रख लिया। पर्स में कुछ अहम दस्तावेज और 15 हजार रुपये कैश थे। सोमवार को साईना मेहता ने यह पर्स उसके मालिक राजेश नौटियाल को सौंप दिया।

दरअसल शहर के जोगीवाला निवासी राजेश नौटियाल रविवार शाम बाजार में कुछ खरीदारी करने गए थे। इस बीच नेहरू कॉलोनी में उनका पर्स जेब से गिर गया। घर जाकर उन्हें पता चला तो होश उड़ गए। पर्स में एटीएम कार्ड, 15 हजार रुपये कैश और ड्राइविंग लाइसेंस सहित कई कागजात थे। इस बीच कार से गुजर रही नेहरू कॉलोनी निवासी साइना मेहता ने यह पर्स देख लिया। उन्होंने पर्स उठाया तो देखा उसमें पैसे और कागजात थे। आसपास कई लोगों को पूछा, लेकिन पर्स मालिक का पता नहीं चला।

साइना ने बताया कि इसके बाद वह पर्स लेकर घर आ गई। घर आकर साइना ने पर्स अपने पापा को दिखाया। पर्स में मौजूद कागजात के आधार पर राजेश नौटियाल को फेसबुक पर भी तलाश किया, लेकिन पता नहीं चल पाया। बाद में किसी तरह राजेश नौटियाल को ढूंढकर उनकी अमानत उनके हवाले की गई। साइना की ईमानदारी से राजेश नौटियाल तो खुश हैं ही, जिसे भी यह बात पता चली हर कोई साइना को सलाम कर रहा है।