बैंक मैनेजर ने दूसरी बार की सीनियर मैनेजर से छेड़छाड़, महिला ने लगाई सुरक्षा की गुहार

उत्तराखंड की अस्थायी राजधानी देहरादून में एक बैंक की सीनियर मैनेजर ने अपने साथ काम करने वाले मैनेजर के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। मैनेजर के खिलाफ कथित तौर पर छेड़छाड़ और जान से मारने की धमकी देने का मुकदमा दर्ज हुआ है।

करीब 12 साल पहले भी आरोपी को इसी तरह की हरकत पर माफ किया गया था। एक साथ फिर पोस्टिंग होने के बाद कई माह से आरोपी अपनी अधिकारी को मानसिक और शारीरिक रूप से प्रताड़ित कर रहा था। डालनवाला कोतवाली में दर्ज कराए गए मुकदमे में पीड़िता ने बताया कि आरोपी प्रबंधक को वह 28 साल से जानती है।

बारह साल पहले आरोपी उसे बहाने से नैंसी बेकरी में ले गया था, जहां उसके साथ गलत हरकत की थी। विरोध करने पर आरोपी ने छोड़ दिया। पिता ने डांट लगाने के बाद उससे संबंध तोड़ लिए। कई महीने से फिर आरोपी की पोस्टिंग उसके साथ हो गई। पहले तो वह शांत रहा, लेकिन कुछ दिन से वह उस पर अश्लील फब्तियां कसने के साथ इशारे भी करने लगा।

प्रतिरोध के बाद भी उसके व्यवहार में सुधार नहीं आया। बैंक अधिकारियों से शिकायत किए जाने पर आरोपी उसके बारे में गलत बातें फैलाने लगा। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। दर्ज कराए गए मुकदमे में पीड़िता ने कई सवाल उठाए हैं। शुरुआत में उल्लेख किया है कि ‘बेटी बचाओ कानून’ क्या अपाहिज बेटी की रक्षा करेगा।

क्या नारी के साथ बलात्कार करना ही सुबूत है। आरोपी द्वारा अश्लील शब्द और हरकतों से किए गए यौन उत्पीड़न के सुबूत कहां से लाएं। अन्याय का सबूत और गवाह नहीं है। क्या कानून मेरी रक्षा नहीं करेगा।