हाईकोर्ट ने IIT रुड़की के फैसले को ठहराया सही, छात्रों की याचिका खारिज

नैनीताल हाईकोर्ट ने बुधवार को उन 64 छात्रों की याचिका खारिज कर दी जिन्होंने सेमेस्टर परीक्षाओं में पांच क्यूमुलेटिव ग्रेड पॉइंट्स एवरेज (सीजीपीए) से कम अंक लाने पर निष्कासित करने के आईआईटी रुड़की के फैसले को चुनौती दी थी।

याचिका को खारिज करते हुए न्यायमूर्ति आलोक सिंह ने हालांकि आईआईटी रुड़की को निर्देश दिया कि वह दो छात्रों के मामले में अपने फैसले पर पुनर्विचार करे। उन दोनों को पांच सीजीपीए से अधिक अंक लाने पर भी निष्कासित कर दिया गया था।

आईआईटी-रुड़की के वकील विपुल शर्मा ने बताया कि निष्कासित किए गए 72 में से 64 छात्रों ने संस्थान के फैसले को चुनौती देते हुए हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया था।

कोर्ट के निर्देश के अनुसार संस्थान उन छात्रों पर अपने फैसले पर पुनर्विचार करेगा, जिन्होंने सेमेस्टर परीक्षाओं में पांच सीजीपीए से अधिक अंक हासिल किए थे।