नैनीताल : कोटाबाग में दो गुटों में खूनी संघर्ष, चौकी इंचार्ज सहित 9 घायल

कालाढूंगी।… कॉर्बेट नगरी रामनगर के पास नैनीताल जिले के कोटाबाग में शुक्रवार देर रात दो पक्षों में खूनी संघर्ष हो गया। इसमें चौकी इंचार्ज सहित नौ लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। इससे भड़के ग्रामीणों ने आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर चौकी पर धरना दिया।

दूसरा पक्ष कार्रवाई की मांग को लेकर कालाढूंगी थाने पहुंच गया। इससे पूरे क्षेत्र में तनाव का माहौल बन गया। तनाव को देखते हुए हल्द्वानी से एसपी, एसडीएम तथा रामनगर से सीओ भी मौके पर पहुंच गए।

दरअसल रात करीब 10 बजे के कोटाबाग बजूनिया हल्दू के मूसाबंगर चौराहे पर दो गुटों में खूनी संघर्ष हो गया। ग्रामीणों का आरोप है कि कुछ लोग पिकअप में भरकर मवेशी ले जाए जा रहे थे। ग्रामीणों ने उन्हें रोका और विरोध किया। इस पर दोनों पक्षों में भिड़ंत हो गई। हंगामे की खबर मिलते ही क्षेत्र के ‘हिंदूवादी संगठनों’ के कार्यकर्ता वहां पहुंच गए।

संघर्ष की खबर पर कोटाबाग चौकी प्रभारी पीसी जोशी के मौके पर पहुंचने तक दूसरे गुट के तमाम लोग वाहनों से वहां पहुंच गए। दोनों पक्षों के बीच संघर्ष में पतलिया निवासी ग्राम प्रधान नवीन गरजोला, पंकज कुमार व महेश भट्ट तथा दूसरे पक्ष के कालाढूंगी निवासी शराफत अली, शमीम, मो. हारुन, सलमान व सदाकत अली घायल हो गए।

इसके बाद बजरंग दल, वीएचपी व भाजयुमो के दर्जनों कार्यकर्ता कोटाबाग चौकी पर ही धरने पर बैठ गए। उन्होंने आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई व जल्द से जल्द गिरफ्तारी की मांग की। तनाव बढ़ने की आशंका पर कालाढूंगी थाना प्रभारी संजय पाठक भी फोर्स के साथ चौकी पहुंच गए।

इस बीच दूसरे पक्ष के लोगों ने पहले कालाढूंगी स्वास्थ्य केंद्र में मेडिकल कराया, फिर थाने पहुंचकर ग्रामीणों पर कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा किया। इधर, तनाव बढ़ता देख एसपी सिटी यशवंत सिंह, एसडीएम पंकज उपाध्याय कालाढूंगी पहुंच गए और सीओ रामनगर मिथिलेश कुमार कोटाबाग चौकी में डटे रहे।

गंभीर रूप से चोटिल हुए पंकज व महेश का सीएचसी कोटाबाग में मेडिकल कराया, जबकि दूसरे पक्ष के तीन घायल शमीम, शराफत व मो. हारुन को एसटीएच भेज दिया गया। एसपी सिटी के मुताबिक दोनों पक्षों की ओर से शिकायत ली जा रही है। जांच के बाद कार्रवाई होगी।