भक्तों की परीक्षा ले रहा है मानसून, बार-बार रोकनी पड़ रही केदारनाथ यात्रा

रुद्रप्रयाग।…खराब मौसम के कारण केदारनाथ यात्रा बार-बार रुक रही है। पिछल महीने 24 जून से ही मौसम बार-बार तीर्थयात्रियों की परीक्षा ले रहा है और इसने यात्रा पर काफी असर डाला है। पिछले 23 दिनों में सिर्फ 9 दिन ही यात्रा सुचारु रह पाई है, बाकि 14 दिन मौसम खराब होने के कारण प्रशासन ने यात्रा को अस्थायी रूप से रोककर रखा।

हालांकि इस दौरान कुछ तीर्थ यात्रियों ने हवाई सेवा का लाभ उठाकर बाबा के दर्शन जरूर किए। मानसून का सीधा असर केदारनाथ यात्रा पर दिख रहा है। इसके बावजूद यात्री तमाम परेशानियों को झेलते हुए भी केदारनाथ के दर्शनों के लिए पहुंच रहे हैं।

साल 2013 में आयी भाषण आपदा के बाद साल 2014 में यात्रियों की संख्या काफी कम रही थी, लेकिन इस साल यात्रा की शुरुआत से ही यात्रियों की संख्या में जबरदस्त इजाफा देखा गया। पिछले साल पूरे सीजन में सिर्फ 38 हजार यात्री ही बाबा केदार के धाम पहुंचे थे, लेकिन इस बार संख्या 1,14,243 तक पहुंच गई है। इनमें लगभग 52 हजार यात्रियों ने हेली सेवा का इस्तेमाल किया है।

इस साल गत 24 जून से मानसून सीजन शुरू होने के बाद केदारनाथ यात्रा को यात्रियों की सुरक्षा की दृष्टि से प्रशासन बार-बार अस्थायी रूप से रोकता रहा है। साल 2013 की आपदा से सबक लेकर इस बार यात्रियों को मौसम विभाग के अलर्ट के बाद सोनप्रयाग से आगे जाने की अनुमति नहीं दी जा रही है। पिछले 23 दिन में कुल 14 दिन तक पैदल यात्रा को पूरी तक तरह से रोका गया।

जो यात्री हवाई सेवा का लाभ नहीं ले सकते थे, उन्होंने पैदल यात्रा शुरू होने का इंतजार किया, जबकि कई यात्री बिना दर्शनों के वापस लौट गए। मानसून का इस सीजन में भक्तों को जुलाई के साथ ही अगस्त में भी बारिश का सामना करना पड़ेगा, हालांकि सितंबर के बाद केदारनाथ में मौसम काफी परिवर्तित हो जाता है, और यात्रा एक बार फिर रफ्तार पकड़ती है।

इस साल कब-कब रोकी गई केदारनाथ यात्रा

  • 25 जून से एक जुलाई तक
  • 5 जुलाई से 8 जुलाई तक
  • 11 जुलाई
  • 16 व 17 जुलाई