आफत की बारिश : जैसी आशंका थी वैसा ही हुआ, पहाड़ी इलाकों में भारी बारिश का दौर जारी

उत्तराखंड में चार धाम यात्रा सुचारु रूप से जारी है। केदारनाथ, बद्रीनाथ, यमुनोत्री, गंगोत्री और हेमकुंड के दर्शनों को यात्री पहुंच रहे हैं। उधर मौसम विभाग का पूर्वानुमान सही साबित हुआ। देहरादून, हरिद्वार, ऋषिकेश, कोटद्वार के साथ ही गढ़वाल के कई इलाकों में भारी बारिश शुरू हो गई।

राज्य के कुमाऊं अंचल के भी चंपावत जिले में भारी बारिश हो रही है। विजिब्लिटी के आभाव में केदारनाथ के लिए हवाई सेवा बाधित है। पूरे राज्य में 60 संपर्क मार्ग अब भी बंद चल रहे हैं, जिससे लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार अगले 30 घंटों में राज्य में अधिकांश जगहों पर बारिश हो सकती है। कहीं-कहीं खासकर अल्मोड़ा, नैनीताल, चंपावत, चमोली, रुद्रप्रयाग पौड़ी जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। मौसम के इस रुख को देखते हुए गुरुवार को चारधाम यात्रा में मौसम कुछ खलल डाल सकता है।

यही वजह है कि रुदप्रयाग व चमोली जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है और चारधाम में से दो धाम इन्हीं जिलों में हैं। गुरुवार गढ़वाल मंडल के ज्यादातर हिस्सों में धूप खिली हुई है और कुमाऊं मंडल में बारिश जारी है। अस्थायी राजधानी देहरादून में दोपहर बाद से मूसलाधार बारिश शुरू हो गई है। हरिद्वार, ऋषिकेश सहित गढ़वाल के कई इलाकों मे भी बारिश हो रही है।

हरिद्वार क्षेत्र में हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। शहर में कई जगह जलभराव की समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है। ज्वालापुर क्षेत्र में लोगों के घरों में पानी घुस गया है। इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

ऋषिकेश में भी मूसलाधार बारिश का दौर जारी है। नगर व आसपास के इलाके में मूसलाधार बारिश से जनजीवन प्रभावित हुआ है। भारी बारिश से सड़कों में जलभराव हो गया है। बद्रीनाथ मार्ग पर गूलर के करीब मलबा आने से पॉवकी देवी पट्टी दोगी संपर्क मार्ग अवरुद्ध हो गया है।