बारिश के बीच धारचूला, मुनस्यारी पहुंचे राहत पैकेट

पिथौरागढ़।… जिला आपदा प्रबंधन विभाग ने लगातार हो रही मानसूनी बारिश को देखते हुए धारचूला तहसील मुख्यालय को 150 और मुनस्यारी तहसील मुख्यालय को राहत सामग्री के 100 पैकेट उपलब्ध करा दिए हैं। जिला मुख्यालय में 100 पैकेट रिजर्व में रखे गए हैं।

इन पैकेटों में खाद्य सामग्री और निजी उपयोग की वस्तुएं हैं। यदि बारिश से किसी परिवार के साथ कोई दिक्कत आती है तो उन्हें तत्काल मदद दी जाएगी। जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी डॉ. आरएस राणा ने बताया कि बंगापानी तहसील मुख्यालय में खोज और बचाव सामग्री पहुंचा दी गई है।

आईटीबीपी की एक टुकड़ी रविवार को रालम गांव को रवाना हो गई है। लिंगुरानी पुल बहने से कई लोग रालम में फंसे हैं। रविवार सुबह आईटीबीपी के जवानों ने लिंगुरानी नाले से 25 लोगों को सुरक्षित पार कराया है। इन लोगों में शामिल पातो निवासी चंद्र सिंह दरियाल ने बताया कि आईटीबीपी के जवान अब रालम गांव को निकल गए हैं। वह लोगों की मदद करेंगे।

सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) ने कैलाश मानसरोवर यात्रा मार्ग पर गुंजी और नाभीढांग के बीच बहने वाली नदी पर वैली ब्रिज का निर्माण किया है। आईटीबीपी के मेजर मनीष नारायण ने बताया कि पुल बनने से लोगों को आवागमन की सुविधा मिलने लगी है।

इसके अलावा एक वैली ब्रिज गुंजी के पास बहने वाली यांगती नदी में भी बनाया जा रहा है। यह पुल एक-दो दिन में तैयार हो जाएगा।