‘अपनों’ के बीच मुख्यमंत्री की ‘फजीहत’, सुरक्षाकर्मियों ने बमुश्किल निकाला

हरिद्वार।… मुख्यमंत्री हरीश रावत आजकल जब भी हरिद्वार आते हैं तो कुछ ना कुछ बवाल जरूर हो जाता है। हाल ही में उनकी सभा में हंगामा हुआ तो उन्होंने मीडिया को बाहर का रास्ता दिखाया था। अब उनसे मिलने की जिद पर अड़े एक गुट को रोका गया तो कार्यक्रम में अफरातफरी मच गई।

यहां मुख्यमंत्री के कार्यक्रम में कांग्रेसियों ने जमकर हंगामा किया। कांग्रेस नेता एडवोकेट हनीफ अंसारी ने आरोप लगाया कि पथरी पुलिस मनमानी कर रही है। पथरी पुलिस ने बाइक चेकिंग के दौरान एक कांग्रेसी को रोका था, जिससे कांग्रेस का एक गुट खफा था।

इसके बाद कुछ लोग यहां एक कार्यक्रम में आए मुख्यमंत्री से मिलने की जिद पर अड़ गए। मुख्यमंत्री को सुरक्षा व्यवस्था के बीच वहां से निकाला गया। कुछ देर के लिए वहां अफरातफरी का माहौल रहा।

दरअसल रविवार शाम मुख्यमंत्री का हरिद्वार के ज्वालापुर में एक कार्यक्रम था। मुख्यमंत्री का भाषण खत्म होने के बाद कांग्रेस नेता एडवोकेट हनीफ अंसारी ने पुलिस-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर दी। बता दें कि रविवार शाम को ही पथरी पुलिस ने चेकिंग के दौरान धनपुरा के एक कांग्रेसी को रोका था।

कांग्रेसियों का कहना था कि रोजा इफ्तार कार्यक्रम में आने की जल्दी में कार्यकर्ता हेलमेट नहीं पहन पाया। उन्होंने पथरी पुलिस पर मनमानी करने का आरोप लगाया। यह हंगामा अभी शांत भी नहीं हुआ था कि कार्यक्रम में मौजूद कुछ लोग मुख्यमंत्री से मिलने की जिद पर अड़ गए।

मुख्यमंत्री का हरिद्वार में सीमित समय के लिए कार्यक्रम था। लोग मंच पर जाना चाहते थे। इस बीच में सुरक्षा कर्मियों ने मुख्यमंत्री को कड़ी सुरक्षा में कार्यक्रम स्थल से निकालकर वहां से रवाना किया।