अल्मोड़ा : भूस्खलन का खतरा, न्योली गांव में दहशत

अल्मोड़ा जिले के विकासखंड भैंसियाछाना के न्योली गांव को लगातार हो रही बारिश और भूस्खलन से खतरा पैदा हो गया है। पीएमजीएसवाइ द्वारा निर्माणाधीन नैनी-सेराघाट सड़क मार्ग का मलबा अब बरसात में इस गांव की ओर खिसकने लगा है। जिसकी वजह से यहां के ग्रामीण खौफजदा हैं।

विकासखंड भैंसियाछाना में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत नैनी-सेराघाट मोटर मार्ग का निर्माण कार्य किया जा रहा है। लेकिन कार्यदाई संस्था द्वारा सड़क कटान का मलबा न्योली गांव की ओर डाला जा रहा है। बीते दिनों हुई बारिश के बाद अब निर्माण कार्य का यह मलबा गांव की ओर खिसकने लगा है।

पिछले दिनों हुई बारिश के कारण निर्माण कार्य का मलबा और बड़े-बड़े बोल्डर ग्रामीणों के घरों पर गिर गए। जबकि भूस्खलन के कारण मलबा लगातार नीचे की ओर आ रहा है। ग्राम प्रधान मोहन सिंह और क्षेत्र पंचायत सदस्य राजेंद्र सिंह ने कहा है कि रात के समय बड़े-बड़े बोल्डर ग्रामीणों के घरों के ऊपर गिर रहे हैं। जिससे कभी भी कोई हादसा होने की आशंका बनी हुई है।

उन्होंने पीएमजीएसवाइ के अधिकारियों से जल्द सड़क निर्माण के मलबे को यहां से हटाने की मांग की है, ताकि ग्रामीणों को बरसात के मौसम में किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े।