खुशखबरी : EPFO अंशधारकों को मिलेगा घर, करोड़ों लोगों को होगा फायदा

कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अपने अंशधारकों को घर मुहैया कराने की स्कीम पर काम कर रहा है। इस स्कीम के तहत 15,000 से कम मासिक आय वाले अंशधारकों को घर मुहैया कराया जाएगा। इस बात की जानकारी देते हुए श्रम मंत्री बंगारू दत्तात्रेय ने शुक्रवार को कहा कि हम ईपीएफओ अंशधारकों को रिटायमेंट के बाद घर देने की स्कीम पर काम कर रहे हैं।

हालांकि, दत्तात्रेय ने इस स्कीम के बारे में विस्तृत जानकारी नहीं दी। उन्‍होंने यह भी नहीं बताया कि यह स्कीम कब तक लॉन्च होगी और इसमें घर लेने के लिए कितनी कीमत चुकानी होगी।

ईपीएफओ के केंद्रीय भविष्य निधि कोष आयुक्त के.के. जालान ने कहा कि ईपीएफओ ट्रस्टी और श्रम मंत्रालय की एक संयुक्त कमेटी इस पर काम कर रही है। यह कमेटी अपनी रिपोर्ट जल्द सौंपेगी। खबरों के मुताबिक ईपीएफओ अपने अंशधारकों को घर देने के लिए पब्लिक सेक्टर बैंकों, हाउसिंग फाइनांस कंपनियों से टाइ-अप करेगा। घरों के निर्माण में डीडीए, पीयूडीए, हुड्डा जैसी अथॉरिटी से सहयोग लिया जाएगा।

ईपीएफओ की इस स्कीम के तहत वैसे अंशधारकों को लाभ मिलेगा, जिनकी मासिक आय 15,000 रुपये से कम है। गौरतलब है कि करीब 6 करोड़ अंशधारकों में 70 फीसदी अंशधारकों की मासिक आय 15,000 रुपये से कम है।

श्रम मंत्री बंगारू दत्तात्रेय ने बताया कि ईपीएफ अंशधारकों को अपने अकाउंट देखने की सुविधा के लिए एक ऐप लॉन्च की जाएगी। यह ऐप इस साल के अंत तक लॉन्च हो जाएगी, जिसमें पासबुक देखने की सुविधा दी जाएगी।