हल्द्वानी : बेटी के साथ रेप करने वाला ‘कलयुगी पिता’ दोषी करार

उत्तराखंड में नैनीताल जिले के हल्‍द्वानी में अपनी बेटी को हवस का शिकार बनाना वाले कलयुगी पिता की करतूत जानकर किसी का भी सिर शर्म से झुक जाएगा और वो शर्म के मारे पानी-पानी हो जाएगा।

विशेष न्यायाधीश पॉक्सो प्रीतू शर्मा ने बेटी के यौन शोषण के मामले में पिता को दोषी करार दिया है। दोषी की सजा पर अदालत में बुधवार को सुनाएगी होगी।

विशेष लोक अभियोजक पॉक्सो नरेंद्र सिंह नेगी ने बताया कि उत्तराखंड के रामनगर थाने में 17 जून 2014 को आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली नाबालिग लड़की ने अपने पिता के खिलाफ धारा 376 (2) और 6, 3/4 पॉक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कराया था। लड़की ने आरोप लगाया था कि तीन महीने से उसका पिता उसका यौन शोषण कर रहा था।

16 जून 2014 को जब नाबालिग ने पिता की इस हरकत का विरोध किया तो उसके साथ मारपीट की गई और जान से मारने की धमकी भी दी गई। पीड़ित के मुताबिक पिता की हरकतों से तंग आकर उसकी मां भी घर छोड़कर चली गई। इसके बाद उसके पिता ने दूसरी शादी कर ली।

सौतेली मां भी पिता की हरकतों का विरोध करती थी। मामले की जांच सब-इंस्पेक्टर स्वेता नेगी ने की। अदालत में अभियोजन पक्ष ने छह गवाह पेश किए। अदालत ने दोनों पक्षों के तर्क सुनने और साक्ष्यों को देखने के बाद पिता को नाबालिग बेटी के साथ बलात्कार का दोषी करार दिया। अदालत मामले में दोषी को बुधवार को सजा सुनाएगी।