देश के 18 केंद्रीय विश्वविद्यालयों ने बीए स्तर पर क्रेडिट प्रणाली लागू की

देश के 18 केंद्रीय विश्वविद्यालयों ने विकल्प आधारित क्रेडिट प्रणाली स्नातक स्तर पर लागू कर दी है जबकि 37 केंद्रीय विश्वविद्यालयों ने स्नातकोत्तर पर यह प्रणाली लागू की है। केंद्रीय विश्वविद्यालयों के कुलपतियों के सम्मेलन में पिछले सम्मेलन में लिए फैसलों की समीक्षा के दौरान यह जानकारी दी गयी।

सम्मेलन में अधिकतर कुलपतियों ने बताया कि उन्होंने शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया शुरू कर दी है और इस वर्ष अक्टूबर तक बहुत नियुक्तियां हो जाएगीं। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अनुसार सभी कुलपतियों ने आश्वासन दिया कि वे इस शैक्षिक वर्ष से विकल्प आधारित क्रेडिट प्रणाली के तहत पढ़ाई शुरू कर देंगे और इसके लिए सभी तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

तेरह नए केंद्रीय विश्वविद्यालयों में स्नातक कोर्स नहीं होने के कारण यह प्रणाली लागू नहीं की गई है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के मुताबिक 19 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में स्नातक स्तर पर व्यवसायिक कोर्स शुरू करने की मंजूरी दी गई है जबकि 19 विश्वविद्यालयों में सामुदायिक कॉलेज खोलने की अनुमति प्रदान की गई है और इतने विश्वविद्यालयों ने आसपास के गांवों को गोद भी लिया है।

इसके अलावा 25 विश्वविद्यालयों में सामुदायिक प्रकोष्ठ स्थापित किया गया है। 17 विश्वविद्यालयों को नैक से मान्यता मिल गई है जबकि सात ने दोबारा आवेदन किया है। इसके अलावा नौ विश्वविद्यालयों ने पहली बार आवेदन किया है।