ईपीएफ की सेवाएं मिलेंगी मोबाइल फोन के जरिए

संगठित और असंगठित क्षेत्र के नौकरीपेशा लोगों को सामाजिक सुरक्षा देने वाला कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) अपने समस्त अंशधारकों को सभी सेवाएं मोबाइल फोन सेवा (एम. गवर्नेस) के जरिए उपलब्ध कराने की तैयारी कर रहा है।

केंद्रीय भविष्य निधि आयुक्त केके जालान ने यह जानकारी दी। इससे पहले उन्होंने ईपीएफओ के मुख्यालय में ‘डिजीटल इंडिया सप्ताह’ समारोह में बताया कि ईपीएफओ का लगभग पूरा कामकाज डिजीटल हो चुका है। उन्होंने बताया कि संगठन का मकसद पूरे कामकाज में तेजी, पारदर्शिता और निष्पक्षता लाना है। इसके लिए पूरी प्रक्रिया को डिजीटल किया जा चुका है। इससे प्रक्रिया में तेजी आती है और लागत घटाने में मदद मिलती है। संगठन की लेन-देन की प्रक्रिया को ई. बैंकिंग से भी जोड़ा जा चुका है।

जालान ने कहा कि ईपीएफओ के तीन प्रमुख अंशधारकों कर्मचारी, नियोक्ता और पेशनधारकों से संबंधित प्रक्रियाओं का डिजीटलीकरण किया जा चुका है। इससे दावों को निपटाने में तेजी आई है और संगठन प्रति माह तीन हजार करोड़ रुपए के दावों को निपटा रहा है।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की भावना के अनुरूप संगठन ई. गवर्नेस से एम़ गवर्नेस की ओर तेजी से बढ़ रहा है। जल्दी ही इसकी सेवाएं मोबाइल फोन पर उपलब्ध करा दी जाएंगी।