18-23 सितंबर तक होगा नंदादेवी मेला, पौराणिक मेले को मिलेगा भव्य स्वरूप

अल्मोड़ा।… ऐतिहासिक व सांस्कृतिक महत्व वाले नंदादेवी मेले को इस बार भव्य स्वरूप दिए जाने की तैयारी है। यह निर्णय यहां मां नंदा देवी मंदिर एवं नंदा गीता भवन कमेटी की बैठक में सर्वसम्मति से लिया गया। विभिन्न राज्यों के लोक कलाकारों को भी इस मेले में आमंत्रित किया जाएगा।

कमेटी के सचिव एलके पंत का कहना है कि नंदादेवी मेला 18 से 23 सितंबर तक मनाया जाएगा। मेले को भव्य स्वरूप देने के लिए संयोजक मंडल का भी गठन किया गया है, जिसमें मुख्य संयोजक दिनेश गोयल तथा मनोज सनवाल, तारा जोशी, अनूप साह, हरीश बिष्ट को संयोजक पद की जिम्मेदारी सौंपी गई है। जो संपूर्ण सांस्कृतिक कार्यक्रमों को अंतिम रूप प्रदान करेंगे।

मंदिर की आंतरिक व्यवस्था धन सिंह मेहता व अनूप साह को सौंपी गई है। इस बार मेले को भव्य स्वरूप देने के लिए समिति के सदस्य ग्रामीण क्षेत्रों में जाकर कलाकारों से संपर्क करेंगे। अधिकाधिक कलाकारों को मेले में आमंत्रित किया जाएगा। स्थानीय जनप्रतिनिधियों व नागरिकों के साथ बैठक कर उनसे भी मार्ग दर्शन प्राप्त किया जाएगा।

तय किया गया है कि इस साल नई व्यवस्था के तहत एक दिन रामशिला मंदिर में भी चंद राजाओं के वंशज राजा केसी सिंह बाबा द्वारा पूजा अर्चना की जाएगी। यहां नंदा चालीसा का पाठ होगा और श्रद्धालुओं को प्रसाद वितरण किया जाएगा।

अल्मोड़ा जिले में पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए विभिन्न राज्यों के कलाकारों के भी कार्यक्रम आयोजित किए जाने की भी कार्ययोजना पर मंत्रणा हुई। महिलाओं की भी मेले में अधिकाधिक भागीदारी हो, इसके लिए जल्द ही महिला संयोजक का गठन किया जाएगा।