हरिद्वार में किसान ने भरी महफिल ‘निशंक’ की बोलती बंद की!

हर‌िद्वार में मोहम्मदपुर जट गांव में हुई पूर्व मुख्यमंत्री व हरिद्वार के सांसद रमेश पोखरियाल निशंक की सभा में उस समय फजीहत की स्थिति पैदा हो गई, जब भरी सभा में एक किसान ने निशंक को भाषण शुरू करने से रोक दिया।

किसान और पार्टी कार्यकर्ता ने निशंक से भाषण शुरू करने से पहले कहा पहले मेरे सवालों के जवाब दो तब भाषण देना। वह अपनी बात पर अड़ा रहा। निशंक ने किसान को जवाब देकर आश्वस्त करने की कोशिश की। लेक‌िन किसान पूरी तरह से संतुष्ट होता इससे पहले ही बीजेपी कार्यकर्ताओं ने किसान को समझा-बुझाकर नीचे बैठा दिया।

दरअसल बुधवार को निशंक, बीजेपी की ओर से आयोजित महासंपर्क अभियान कार्यक्रम को संबोधित करने के लिए पहुंचे थे। जैसे ही निशंक सभा में पहुंचे और भाषण देने लगे तो नगला चीना के किसान व बीजेपी कार्यकर्ता कालूराम खड़े हो गए और कहने लगे की सांसद जी भाषण तो देना बाद में पहले तीन बातों का जवाब दे दो।

इसके बाद किसान ने गन्ना भुगतान, फसलों और नष्ट फसलों का मुआवजा नहीं मिलने पर गुस्सा उतारने के साथ ही उनसे पूछा कि काश्तकारों के इन मुद्दों पर उन्होंने अब तक क्या किया है। कालूराम ने ये भी आरोप लगाया कि चुनाव से पहले तो कार्यकर्ताओं को ही पार्टी का सब कुछ माना जाता है, बाद में जमीनी कार्यकर्ताओं को छोड़ कुछ खास चमचे ही नेताओं के लिए सब कुछ हो जाते हैं।

निशंक ने केंद्र सरकार को चिट्ठी लिखकर भुगतान एवं मुआवजे की समस्या के हल के प्रयास करने की बात बताई। कहा कि पार्टी सभी को एक नजर से देखती है। इतना कहकर निशंक कालूराम को शांत करने लगे, लेकिन इससे पहले कि कालूराम अपने जवाबों को पूरा पूछ पाते बीजेपी कार्यकर्ताओं ने उन्हें बैठा दिया। इसके बाद निशंक ने कार्यकर्ताओं को संबोधित किया।