‘कैप्टन कूल’ धोनी कप्तानी छोड़ने को तैयार, बोले- ‘जिम्मेदारी से मुक्त होकर खुशी होगी’

टीम इंडिया के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने बांग्लादेश के खिलाफ ऐतिहासिक सीरीज की हार के बाद कहा है कि अगर बीसीसीआई कहे तो वे कप्तान का पद छोड़ने को तैयार हैं। गौरतलब है कि टीम इंडिया बांग्लादेश से लगातार दो मुकाबले हारने का बाद तीन मैचों की वनडे सीरीज 2-0 गंवा चुकी है।

बांग्लादेश के खिलाफ लगातार दो हार के बाद धोनी की कप्तानी पर हर ओर से सवाल उठ रहे हैं, ऐसे में कैप्टर कूल ने कहा है कि अगर उनके कप्तानी के पद से हटने से टीम की स्थिति में सुधार होता है, तो वे कप्तानी छोड़ने के लिए तैयार हैं।

उन्होंने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, अगर मेरे हटने से भारतीय क्रिकेट टीम का प्रदर्शन बेहतर होता है और मैं ही टीम की हार का जिम्मेदार हूं तो मैं कप्तानी से हटना पसंद करूंगा। मैं खिलाड़ी के तौर पर खेलूंगा। उन्होंने कहा, सब टीम को जीतते हुए देखना चाहते हैं। कप्तान कौन है, ये मायने नहीं रखता।

धोनी ने इसके अलावा यह साफ किया कि वह कभी कप्तानी की होड़ में शामिल नहीं थे, लेकिन उन्हें टीम की जिम्मेदारी सौंपी गई। भारत के इस सबसे सफल कप्तान ने कहा कि मेरे लिए कप्तानी जिम्मेदारी है। मैंने ये जिम्मेदारी उठाई। यह जिम्मेदारी मुझे दी गई। मैंने उसे स्वीकार किया। अगर वे वापस लेना चाहेंगे तो मुझे इसे छोड़ने में ख़ुशी होगी।

कैप्टन कूल ने इस दौरान यह भी कहा कि देश के लिए खेलना अहम होता है। उन्होंने कहा, टीम के लिए योगदान देना और ड्रेसिंग रूम के वातावरण को बेहतर बनाना अहम होता है, ताकि कोई युवा टीम में आए तो वह अच्छा कर सके। मेरे लिए उपलब्धि यही है। उन्होंने कहा कि टीम हर सीरीज़ जीत जाए, यह भी संभव नहीं है।