बागेश्वर : आधार केंद्र में मिले NGO व बिजली दफ्तर से चोरी हुए कंप्यूटर

पुलिस ने बिजली दफ्तर सहित एक एनजीओ ऑफिस से कंप्यूटर चोरी के मामले का खुलासा किया है। पुलिस ने इस मामले में सामान सहित एक युवक को गिरफ्तार किया है।

कोतवाली अंतर्गत एक एनजीओ में 22-23 मार्च व बिजली विभाग के ऑफिस में 5-6 अप्रैल को अज्ञात चोरों ने ताले तोड़कर कंप्यूटर आदि सामान चुरा लिया था। दोनों जगह की चोरियों का तरीका एक ही था। पुलिस ने इसके लिए टीमों का गठन किया।

शुक्रवार रात नगर के पिंडारी मार्ग में चल रहे आधार कार्ड केंद्र में छापा मारकर वहां चल रहे कंप्यूटर का निरीक्षण किया। सीरीज मिलान होने पर वहां तैनात कर्मचारी हयात सिंह कोश्यारी निवासी नामटी चेटाबगड़ हाल निवासी कठायतबाड़ा से पूछताछ की तो उसने एनजीओ व बिजली कार्यालय से चोरी की बात कबूल ली।

इस पर पुलिस ने उसे दो हार्ड डिस्क, की बोर्ड, मॉनीटर सहित गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने बताया कि हयात ने चोरी का सामान बेचने की जानकारी दी है। पुलिस अभियुक्त को पुलिस रिमांड में लेने की तैयारी कर रही है, ताकि उससे अन्य सामान भी बरामद किया जा सके।

पुलिस कम्प्यूटर चोरी मामले में चोर तक बिजली के बिल के जरिए पहुंची। 22-23 मार्च की चोरी में एनजीओ ऑफिस के कर्मचारियों को एक बिल मिला। जब पुलिस ने मामले की जांच की तो कुछ दिन बाद कर्मचारियों ने यह बिल पुलिस को दिया। पुलिस इसी रास्ते पर आगे चलती रही तथा पुलिस ने उपभोक्ता से सम्पर्क किया।

उपभोक्ता ने बताया कि हयात सिंह ग्रामीणों के बिलों को जमा करने बागेश्वर ले जाता था तथा इसके ऐवज में कुछ रुपये ग्रामीण उसे देते थे। यह बिल भी उन्होंने हयात को दिया था। जिस पर पुलिस अभियुक्त तक पहुंची। आरोपी युवक इससे पहले चंडीगढ़ की शराब बेचने पर कपकोट थाने में गिरफ्तार हो चुका है।

पुलिस गिरफ्त में हयात सिंह ने बताया कि वह चोरी शनिवार को ही करता था। रविवार को ऑफिस बंद होने के कारण इसकी जानकारी अधिकारियों को सोमवार को ही होती थी, जिससे उसे सामान को ठिकाने लगाने में आसानी होती थी।