हरिद्वार का गांव बना उत्तर भारत का पहला डिजिटल गांव

मोदी सरकार की डिजिटल इंडिया मुहिम के तहत हरिद्वार के बहादराबाद ब्लॉक का गांव पंजनहेड़ी ब्राडबैंड कनेक्टिविटी से पूरी तरह जुड़ गया है। यह उत्तर भारत का पहला गांव बन गया है जो पूरी तरह से डिजिटल बन चुका है। नेशनल ऑप्टिकल फाइबर नेटवर्क (एनओएफएन) के तहत प्रदेश के 28 ब्लॉकों की ग्राम पंचायतों को पहले चरण में जोड़ा जा रहा है, जिसकी शुरुआत पंजनहेड़ी से हुई है। मुख्य सचिव एन रविशंकर ने शुक्रवार को पंजनहेड़ी का निरीक्षण किया।

योजना एसी है जिसमे हर गाँव को 100 एमबीपीएस बैंडविड्थ देने का लक्ष्य है। इसके सहयोग से अर्द्धकुंभ के दौरान भीड़ नियंत्रण प्रशासनिक प्रबंधन व सूचनाओं का तेजी से आदान-प्रदान किया जा सकेगा। अर्द्धकुंभ में भीड़ नियंत्रण के लिए अच्छा परिणाम देने वाले वेब कैमरे की मदद भी ली जा सकती है।

मुख्य सचिव ने कहा कि ई-कॉमर्स, ई-एजूकेशन, ई-प्रशासन जैसे विभिन्न क्षेत्रों में इसका उपयोग किया जा सकता है। निरीक्षण के दौरान मुख्य सचिव ने इस योजना में सहायक बीएसएनएल के दिल्ली कार्यालय में बैठे जीएम व लखनऊ कार्यालय में बैठे बीबीएनएल के जीएम से योजना की जानकारी वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से ली।