देश की सेवा करेंगे ये नौजवान, IMA की पासिंग आउट परेड में होंगे शामिल

देश सेवा के जज्बे में एक बार फिर उत्तराखंड पहले नंबर पर आया है। देश को आर्मी अफसर देने के मामले में उत्तराखंड एक फिर नंबर-1 बनकर सामने आया है। शनिवार को होने जा रही भारतीय सैन्य अकादमी (आईएमए) की पासिंग आउट परेड (पीओपी) में जनसंख्या के लिहाज से लगातार पांचवीं बार उत्तराखंड से सर्वाधिक 60 नौजवान भारतीय सेना का हिस्सा बनेंगे।

आईएमए की पासिंग आउट परेड (पीओपी) में इस बार 616 नौजवान अफसर बनकर देश की रक्षा को तैयार हैं। इसमें सर्वाधिक संख्या उत्तर प्रदेश के हैं। उत्तर प्रदेश से इस साल 100 युवा पास आउट होंगे, जबकि दिसंबर 2014 की पीओपी में यहां के 103 युवा पास आउट हुए थे।

हरियाणा के 64 युवा सेना का हिस्सा बनेंगे, जबकि दिसंबर की पीओपी में यहां से 73 युवा पासआउट हुए थे। इनके मुकाबले बेहद कम जनसंख्या वाले उत्तराखंड से इस बार 60 युवा पास आउट होने जा रहे हैं, जबकि दिसंबर की पीओपी में यह संख्या 51 थी।

जनसंख्या के हिसाब से इतनी बड़ी संख्या में युवाओं के पास आउट होने का यह सिलसिला लंबे समय से चल रहा है। गत 20 पीओपी में से उत्तराखंड ने 19 पीओपी में शीर्ष 3 में अपनी जगह बनाए रखी है। इस बार की पीओपी में भी उत्तराखंड संख्या के लिहाज से तीसरे स्थान पर रहा है।

पीओपी में इस साल अरुणाचल प्रदेश का कोई भी जवान देश की सेना का हिस्सा नहीं बनेगा। जबकि 51 जीसी के साथ बिहार चौथे स्थान पर और 48 जीसी के साथ राजस्थान पांचवें नंबर पर रहा।

देश को जांबाज जवान देने वाले टॉप 10 राज्य

राज्य पास आउट जीसी
उत्तर प्रदेश 100
हरियाणा 64
उत्तराखंड 60
बिहार 51
राजस्थान 48
पंजाब 38
मध्य प्रदेश 31
महाराष्ट्र 31
दिल्ली 30
जम्मू कश्मीर 28
केरल 25