बद्रीनाथ हाईवे : सिर्फ दो घंटे में तीन हादसे, छह की मौत, 5 अस्पताल में

बद्रीनाथ हाईवे पर महज 37 किमी के दायरे में बुधवार को तीन सड़क दुर्घटनाएं हुईं। अलग-अलग जगहों पर हुई इन सड़क दुर्घटनाओं में छह लोग काल के गाल में समा गए और पांच लोग घायल हो गए।

गंभीर रूप से घायल एक व्यक्ति को देहरादून रैफर किया गया। तीन घायलों का इलाज बेस अस्पताल में चल रहा है। मामूली रूप से चोटिल एक व्यक्ति को फार्स्ट एड के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। मृतकों में चार महिलाएं और दो पुरुष शामिल हैं।
[manual_related_posts]

ऋषिकेश से मैठाणा (चमोली) जा रही ऑल्टो कार मूल्यागांव के करीब पाली ढाबा के पास अनियंत्रित होकर करीब 200 मीटर गहरी खाई में जा गिरी। हादसे में चार लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। कार में ड्राइवर सहित पांच लोग सवार थे।

हादसे में घायल उदय सिंह ने बताया कि ड्राइवर को झपकी आने से कार अनियंत्रित हो गई थी। कार में सवार उमेश लाल पुत्र चैत लाल (कार ड्राइवर) निवासी मैठाणा (चमोली) और सुषमा बिष्ट पत्नी दलवीर बिष्ट निवासी लंबगांव की मौके पर ही मौत हो गई। दो अन्य महिलाओं की शिनाख्त नहीं हो पाई है।

बद्रीनाथ हाईवे पर ही बचूलीखाल में भी एक कार गहरी खाई में जा गिरी। हादसे में कार सवार पति पत्नी की मौके पर ही मौत हो गई। बताया जाता है कि कार में सिर्फ दो लोग ही सवार थे।

देहरादून के गणेश विहार अजबपु‌र खुर्द निवासी दंपति 78 वर्षीय सुखदेव सिंह व उनकी 75 वर्षीय पत्नी भामा देवी पौड़ी स्थित अपने गांव डुंगरी में पर‌िवारिक पूजा में शामिल होने गए थे। बुधवार सुबह पत‌ि-पत्नी पुत्र जोत स‌िंह नेगी के साथ देहरादून के ल‌िए न‌िकले थे।

सकनीधार से कुछ दूरी पर बचूलीखाल के पास उनकी कार अनियंत्रित होकर खाई में जा गिरी। हादसे की खबर मिलते ही स्थानीय प्रशासन और स्थानीय लोगों की मदद से दंपति को बाहर निकाला गया। लेकिन तब तक दोनो की मौत हो चुकी थी।

तीसरी दुर्घटना लक्षमौली बागवान में हुई। यहां वैगन आर कार और टाटा सूमो के बीच भिड़ंत होने से चार लोग घायल हो गए। दुर्घटना में वैगन आर में सवार जल संस्थान कर्णप्रयाग में तैनात असिस्टेंट इंजीनियर आरएस गुप्ता गंभीर रूप से घायल हो गए। उन्हें देहरादून रेफर कर दिया गया है। जबकि सूमो में सवार दिनेश डंगवाल (50), दुर्गा प्रसाद बमराड़ा (58) एवं कैलाश घिल्डियाल (50) सभी श्रीनगर निवासी घायल हो गए।

सभी घायलों को श्रीकोट बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया। इनमें कैलाश घिल्डियाल को फर्स्ट एड के बाद छुट्टी दे दी गई है। ये सभी लोग शादी समारोह में शामिल होने हरिद्वार जा रहे थे। बद्रीनाथ हाईवे पर 37 किमी के अंदर एक ही दिन में हुए तीन हादसों में छह लोगों की मौत से चमोली दहल गया। वहीं ‌जिले में सड़कों की स्थिति पर भी सवाल खड़े होने लगे हैं।