देहरादून।… बीजापुर अतिथि गृह में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री अशोक गजपति राजू और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत के बीच गुरुवार को कई मुद्दों पर चर्चा हुई। केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा कि उत्तराखंड में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं।

राज्य सरकार ने जो प्रस्ताव केन्द्र सरकार को भेजे हैं, उन पर जल्द विचार कर निर्णय लेने की बात भी राजू ने की। उन्होंने कहा, पंतनगर हवाई अड्डे को कार्गो एयरपोर्ट के रूप में विकसित किया जाएगा। इसके साथ ही जौलीग्रांट व पंतनगर एयरपोर्ट के विस्तार पर भी विचार किया जा रहा है।

गजपति राजू ने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार मिलकर नागरिक उड्डयन के क्षेत्र में काम करेंगे। राज्य सरकार द्वारा प्रस्ताव दिया गया है कि हैलीड्रोम में हैलीकॉप्टर की नाइट लैडिंग सुविधा दी जाए, इस पर सुरक्षा व अन्य सभी बिन्दुओं पर विचार कर जल्द निर्णय लेने की बात केंद्रीय मंत्री ने की।

केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के जो भी प्रस्ताव केंद्र स्तर पर लंबित हैं, उनका समाधान जल्द ही किया जाएगा। मुख्यमंत्री हरीश रावत ने केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री के साथ मुलाकात को सार्थक बताया। उन्होंने कहा, राज्य के हित में कुछ प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजे गए हैं, जिन पर केंद्रीय मंत्री द्वारा सकारात्मक कार्यवाही का आश्वासन दिया गया है।

simply_uttarakhand8

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रस्ताव दिया है कि जौलीग्रांट हवाई अड्डे को अन्तरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का दर्जा दिया जाए। उन्होंने बताया कि हमने देहरादून व पंतनगर हवाई अड्डे के विस्तार का भी अनुरोध किया गया है। राज्य में चारधाम यात्रा के साथ ही हेमकुण्ड साहिब, कैलाश-मानसरोवर यात्रा होती है, जिसमें देश-विदेश से पर्यटक व तीर्थयात्री आते है।

इसे देखते हुए चंडीगढ़ व अमृतसर से देहरादून के लिए हवाई सेवाएं जल्द शुरू की जाएं। पंतनगर एयपोर्ट को निर्यात के लिए कार्गो हब के तौर पर विकसित किया जाए। दिल्ली से पंतनगर के लिए एयर इंडिया की रोकी गई हवाई सेवा को फिर से शुरू किया जाए। मुख्यमंत्री ने जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट को एमआरओ विकसित किए जाने के लिए उपयुक्त बताते हुए कहा कि इसके लिए सिविल एविएशन अथॉरिटी के पास पर्याप्त भूमि भी उपलब्ध है।