ग्रेजुएट हैं तो विदेश मंत्रालय में है नौकरी का बेहतरीन मौका

अगर आप ग्रेजुएट हैं और युवा हैं तो आपके पास काम का अच्छा अवसर है। विदेश मंत्रालय को पासपोर्ट सेवाओं को सरल बनाने के लिए आप जैसे ग्रेजुएट युवाओं की ही तलाश है। पासपोर्ट कार्यालयों में ट्रेनिंग के बाद इन युवाओं को ‘पासपोर्ट मित्र’ नाम दिया जाएगा।

‘पासपोर्ट मित्र’ के जरिए योग्य युवाओं को विदेश मंत्रालय के साथ जुड़ने का मौका मिलेगा। विदेश मंत्रालय के निर्देश पर ही उत्तराखंड क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय ने भी इसके लिए आवेदन मंगाने शुरू कर दिए हैं।

क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय और पासपोर्ट सेवा केंद्र भी विदेश मंत्रालय के निर्देश पर ऑनलाइन आवेदन, शुल्क जमा करने, तत्काल श्रेणी के पासपोर्ट बनाने, पुलिस सत्यापन सहित इससे जुड़ी विभिन्न प्रक्रियाओं के सरलीकरण की योजना पर काम कर रहे हैं।

इसी के तहत उत्तराखंड में भी पासपोर्ट मित्र बनाने की योजना पर काम चल रहा है। इच्छुक ग्रेजुएट युवा विदेश मंत्रालय की वेबसाइट या सीधे एमकेपी रोड, देहरादून स्थित क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय में आवेदन कर सकते हैं।

आवेदनों को रिकमंडेशन के साथ विदेश मंत्रालय में भेजा जाएगा। विदेश मंत्रालय के दिशा-निर्देशों पर ग्रेजुएट युवाओं को एमकेपी रोड स्थित क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय और हाथी बड़कला स्थित पासपोर्ट सेवा केंद्र में एक हफ्ते की ट्रेनिंग दी जाएगी। इसका पहला बैच चार गुरुवार जून से शुरू हो रहा है।

इन बातों का रखें ध्यान

  • किसी भी विषय में कम से कम ग्रेजुएट हों।
  • अच्छे अकादमिक रिकॉर्ड वाले अभ्यर्थियों को प्राथमिकता मिलेगी।
  • ट्रेनिंग के दौरान किसी तरह का मानदेय नहीं दिया जाएगा।
  • ट्रेनिंग पूरी होने के बाद विदेश मंत्रालय की ओर से इन युवाओं को प्रमाण पत्र दिया जाएगा।
  • प्रमाण पत्र मिलने के बाद ये युवा कॉमन सर्विस सेंटर में पंजीकरण करा सकते हैं।
  • ऐसे युवा ट्रेनिंग से पासपोर्ट के ऑनलाइन आवेदन करने में दक्ष होंगे।