दो जगह वोटर कार्ड बनवाए हैं तो अब सावधान, खानी पड़ेगी जेल की हवा

अक्सर लोग एक जगह से दूसरी जगह रहने के लिए जाते हैं तो दूसरी जगह भी वोटर कार्ड बनवा लेते हैं, लेकिन पहली जगह की वोटर लिस्ट से नाम नहीं हटवाते। अगर आपने या आपके किसी परिचित ने भी ऐसा ही किया है तो सावधान। अब पकड़े गए तो एक साल के लिए जेल की हवा खानी पड़ सकती है।

जी हां, अगर आपका दो जगह वोटर लिस्ट में नाम है तो एक जगह से तुरंत कटवा लें। अगर ऐसा नहीं किया तो जुर्माने के साथ एक साल की सजा भी हो सकती है। निर्वाचन आयोग के निर्देश पर जिला निर्वाचन कार्यालय ने देहरादून में 15 हजार 681 वोटरों को नोटिस जारी कर दिया है। नोटिस मिलने के सात दिन के भीतर एक जगह से नाम कटवाना जरूरी है।

जिला निर्वाचन कार्यालय ने विभिन्न परगनाओं के एसडीएम के जरिए दो जगह की वोटर लिस्ट में नाम रखने वाले लोगों को नोटिस भेज जारी किए हैं। एसडीएम भी बीएलओ के जरिए नोटिस सही लोगों तक पहुंचा रहे हैं।

बता दें कि वोटर लिस्ट में नामों का सबसे ज्यादा दोहराव रायपुर विधानसभा क्षेत्र और सबसे कम चकराता विधानसभा क्षेत्र में है। जिले के डेढ़ लाख वोटरों की जांच करने पर 15 हजार से ज्यादा वोटरों के नाम दो जगह मिले हैं। और अभी तो यह प्रक्रिया जारी ही है।

दरअसल यह फर्जीवाड़ा या कहें लापरवाही वोटर लिस्ट के साथ आधार कार्ड नंबर जोड़ने की प्रक्रिया में पकड़ में आए हैं। मतदाता सूची में वोटर का आधार कार्ड नंबर जोड़ते ही सॉफ्टवेयर ने तुरंत गड़बड़ी पकड़ ली।

सॉफ्टवेयर ने दो जगह नाम वाले दो तरह के वोटर पकड़े हैं। इन्हें अलग-अलग नोटिस जारी किया गए हैं। एक डबलिंग में वोटर का नाम, पिता का नाम और घर का पता दोनों स्थानों पर एक मिला है। जबकि दूसरी तरह की डबलिंग में वोटर का नाम, पिता का नाम, घर के एड्रेस के साथ मतदाता पहचान पत्र संख्या भी एक मिली है।

उत्तरांचल टुडे आपसे विनती करता है कि जैसे ही आपको वोटर लिस्ट में डबलिंग संबंधी नोटिस मिले, अपने क्षेत्रीय पटवारी या बीएलओ के जरिए निर्वाचक रजिस्ट्रीकरण अधिकारी कार्यालय में अपना पक्ष रखें। आप जिस भी निर्वाचन क्षेत्र में निवास करते हैं, वहां की वोटर लिस्ट में नाम रखें, अन्य जगहों की वोटर लिस्ट से नाम तुरंत हटवा लें।

अकेले देहरादून जिले में ही वोटर लिस्ट में डबलिंग की स्थिति इस प्रकार है…

रायपुर विधानसभा क्षेत्र 4876 वोटर
धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र 2064 वोटर
कैंट विधानसभा क्षेत्र 1904 वोटर
ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र 1742 वोटर
डोईवाला विधानसभा क्षेत्र 1494 वोटर
सहसपुर विधानसभा क्षेत्र 1136 वोटर
राजपुर विधानसभा क्षेत्र  916 वोटर
विकासनगर विधानसभा क्षेत्र  794 वोटर
मसूरी विधानसभा क्षेत्र  719 वोटर
चकराता विधानसभा क्षेत्र    23 वोटर

ये है सजा का प्रावधान
लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम 1950 की धारा-17 व 18 के प्रावधान के मुताबिक, यदि कोई नागरिक एक से ज्यादा निर्वाचक नामावली में पंजीकृत होगा तो उसे उसी अधिनियम की धारा-31 के तहत एक साल कैद या जुर्माना या दोनों दंड मिल सकते हैं।