दौलत के नशे में चूर हैं योग गुरु बाबा रामदेव : आचार्य प्रमोद कृष्णन

हरिद्वार।… भारतीय संत समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष आचार्य प्रमोद कृष्णन ने पतंजलि फूड पार्क में हुई हिंसा के लिए योग गुरु बाबा रामदेव को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने बाबा रामदेव पर दौलत के नशे में चूर होने का आरोप लगाया। उन्होंने सरकार से हिंसा में मारे गए दलजीत सिंह के परिवार को 25 लाख रुपये का मुआवजा देने की भी मांग भी की है।

पत्रकारों से बातचीत में आचार्य प्रमोद कृष्णन ने कहा कि इस हत्या से पूरे प्रदेश का संत समाज आहत है। उन्होंने कहा, अभी तक बाबा रामदेव पीड़ित परिवार से मिलने तक नहीं गए, यह बहुत अफसोस की बात है। उन्होंने कहा कि सरकार को पतंजलि फूड पार्क की सब्सिडी देना बंद कर देनी चाहिए। यही नहीं, बाबा रामदेव व बालकृष्ण के खिलाफ भी रिपोर्ट दर्ज कर उन्हें गिरफ्तार करने की भी मांग उन्होंने की।

प्रमोद कृष्णन ने आरोप लगाया कि बाबा रामदेव निजी सेना का निर्माण कर रहे हैं। पंजाब के एक तथाकथित संत पहले भी ऐसा कर चुके हैं। उनके खिलाफ राष्ट्रद्रोह के तहत कार्रवाई हुई थी। इसके बावजूद अब भी लोग निजी सेना का निर्माण कर समानांतर व्यवस्था चलाने की कोशिश में लगे हुए हैं। इनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए।

उन्होंने बुधवार 27 तारीख को पदार्था गांव स्थित रामदेव के फूड पार्क में हुए खुनी संघर्ष में मारे गए दलजीत के परिवार को एक लाख का चेक भी दिया। उन्होंने सरकार से दलजीत के परिवार को 25 लाख रुपये मुआवजा देने की मांग की।

ज्ञातव्य है कि पदार्था गांव में बुधवार को स्थानीय ट्रक यूनियन व कंपनी के सुरक्षा कर्मियों में मारपीट हुई थी, जिसमें दलजीत की मौत हो गई, जबकि कई अन्य घायल हो गए थे। इस मामले में पुलिस बाबा रामदेव के भाई रामभरत सहित आठ लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।