पतंजलि फूड पार्क मामले में मुख्यमंत्री से हस्तक्षेप की मांग

देहरादून।… कांग्रेस आइटी प्रकोष्ठ के संयोजक अमरजीत सिंह के नेतृत्व में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को रैली निकालकर पतंजलि फूड पार्क में हुई हिंसात्मक झड़प को दुखद करार दिया। उन्होंने कहा कि स्थानीय किसानों की जमीनों पर उद्योग खड़े करके उन्हें बेरोजगार कर दिया गया है और अब उनके स्थान पर बाहरी लोगों को रोजगार दिया जा रहा है।

[manual_related_posts]

दिलाराम चौक से कचहरी तक रैली निकालने के बाद कांग्रेसियों ने जिला अधिकारी के माध्यम से मुख्यमंत्री हरीश रावत को ज्ञापन भेजा। ज्ञापन में उन्होंने कहा कि पतंजलि में स्थानीय लोगों को ढुलान का काम देने की मांग को लेकर प्रदर्शन कर रहे स्थानीय लोगों पर जिस तरह से पतंजलि प्रशासन की ओर से लाठियां चलवाई गई और गोलियां चली, इससे स्थानीय लोगों में रोष है।

बुधवार को हुई इस घटना में एक व्यक्ति की मौत भी हो गई थी। मांग की गई कि इस मामले में मृतक के परिजनों को पतंजलि की तरफ से 25 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाए और स्थानीय लोगों को फूड पार्क में रोजगार दिया जाए। मुख्यमंत्री से मांग की गई है कि वे इस मामले में ठोस कदम उठाएं।