उन्मुक्त, सुयाल और नेगी की ‘घर वापसी’, उत्तराखंड में खेलेंगे क्रिकेट मैच

रणजी ट्रॉफी में दिल्ली की टीम की जीत में अहम रोल अदा करने वाले उत्तराखंड मूल के उन्मुक्त चंद और पवन सुयाल पहली बार उत्तराखंड में खेलते हुए नजर आएंगे।

33वां ऑल इंडिया उत्तराखंड गोल्ड कप क्रिकेट टूर्नामेंट इन दोनो सितारों की मौजूदगी का गवाह बनेगा। अपने गृह प्रदेश में खेलने के लिए दोनों क्रिकेटर भी उत्सुक नजर आ रहे हैं। दोनों खिलाड़ी गोल्ड कप में दिल्ली एंड डिस्ट्रिक्ट क्रिकेट एसोसिएशन (डीडीसीए) के लिए खेलते दिखेंगे।

आईपीएल-8 की चैंपियन मुंबई इंडियंस के लिए खेलने वाले खिलाड़ी उन्मुक्त चंद और पवन सुयाल का जलवा अब रेंजर्स ग्राउंड में भी दिखाई देगा। खासकर अंडर-19 विश्व कप विजेता टीम के कप्तान उन्मुक्त चंद के आने की खबर से आयोजक भी काफी खुश दिख रहे हैं।

एक हिन्दी दैनिक अखबार से फोन पर हुई खास बातचीत में पिथौरागढ़ के खड़कू भल्या गांव के मूल निवासी और दिल्ली के सलामी बल्लेबाज उन्मुक्त ने कहा कि पहली बार वे गोल्ड कप में खेलने आ रहे हैं, इस टूर्नामेंट के बारे में उन्होंने बहुत सुना है।

उन्होंने कहा, खासकर यह मेरा गृह प्रदेश में है, जहां मैं पहली बार खेलने उतरूंगा, इसलिए काफी उत्सुक हूं। वहीं जब उन्मुक्त को बताया गया कि इसी टूर्नामेंट में महेंद्र सिंह धोनी, विरेंद्र सहवाग आदि खिलाड़ी भी खेलकर इंडिया टीम में पहुंचे हैं, तो उन्होंने उम्मीद जताई कि देवभूमि का आशीर्वाद उनके लिए भी अच्छा होगा, बाकी वहां पहुंचने के बाद ही पता चलेगा।

उधर पौड़ी के बीरोंखाल निवासी पवन सुयाल आईपीएल-8 की विजेता मुंबई इंडियंस का हिस्सा बनकर खुश हैं। उन्होंने कहा कि अपने घर में खेलना कौन नहीं चाहता, इस बार मौका मिला है तो जरूर खेलेंगे।

चेन्नई सुपर किंग्स के हरफनमौला लेफ्ट आर्म ऑफ स्पिनर पवन नेगी एक बार फिर गोल्ड कप में अपना जलवा दिखाएंगे। पिछले कुछ सालों से एयर इंडिया के लिए खेल रहे नेगी की इस बार फिर पुरानी टीम से जुड़ने की संभावना है।

अल्मोड़ा के मूल निवासी पवन नेगी ने आईपीएल-8 में शानदार गेंदबाजी करते हुए कुल 10 मैचों 6 विकेट लिए और 116 रन जुटाए। कई मैचों में टीम के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने रैना और जडेजा से भी ऊपर पवन को खेलने भेजा था।