गंगा में खनन रोकने की मांग को लेकर अनशनरत स्वामी शिवानंद ने पिया इलेक्ट्रॉल

हरिद्वार।… गा नदी में खनन रोके जाने की मांग को लेकर पिछले तीन दिनों से बिना जल के अनशनरत मातृसदन आश्रम के प्रमुख स्वामी शिवानंद ने जिला प्रशासन से नदी से भारी मशीनें हटाने और दो दिन के भीतर मसले का हल निकाल लिए जाने का आश्वासन मिलने के बाद इलेक्ट्रॉलयुक्त पानी पीया है।

हालांकि, स्वामी शिवानंद ने साफ किया कि जब तक इस मसले का कोई स्थायी समाधान नहीं निकालता, तब तक उनका अनशन जारी रहेगा। जिलाधिकारी एचसी सेमवाल ने बताया कि उन्होंने इस संबंध में रविवार देर रात स्वामी से बातचीत की थी और उनके बिगडते स्वास्थ्य के मद्देनजर उनसे कम से कम जल पीने का आग्रह किया था।

जिलाधिकारी ने बताया कि अगले दो दिन में नदी से जेसीबी और पोकलैंड जैसी भारी मशीनें हटाने और मसले का हल निकालने की बात पर स्वामी शिवानंद से समझौता हुआ, जिसके बाद उन्होंने इलेक्ट्रॉलयुक्त पानी पी लिया। इस संबंध में, स्वामी शिवानंद ने कहा कि जिलाधिकारी के आश्वासन पर वह इलेक्ट्रॉलयुक्त पानी पीने को तैयार हुए हैं, लेकिन जब तक गंगा में खनन के संबंध में उनकी मांग पर कोई स्थायी हल नहीं निकल जाता, उनका अनशन जारी रहेगा।

उन्होंने यह भी कहा कि अगर जिला प्रशासन अगले दो दिन में इस संबंध में कुछ करने का अपना वादा पूरा नहीं करता, तो वह अपना अनशन तेज कर देंगे।

पिछले तीन दिनों से जल का भी त्याग कर देने वाले स्वामी शिवानंद का स्वास्थ्य बिगड़ रहा था और डॉक्टरों ने भी इस संबंध में चिंता व्यक्त की थी। स्वामी का कहना है कि वह जेसीबी जैसी भारी मशीनों को पवित्र नदी के हृदय पर चलते नहीं देख सकते।

स्वामी पिछले 48 दिनों से गंगा में खनन रोके जाने की मांग को लेकर अनशन पर बैठे हैं और प्रशासन पर दबाव बनाने के लिए उन्होंने गत शुक्रवार से जल भी छोड़ दिया। शिवानंद ने कहा, ‘मैंने सोच लिया है कि गंगा नदी को बचाने के लिए मैं अपना जीवन भी न्यौछावर कर दूंगा।’