खुले विचारों की लड़की थी साहिबा, इसलिए मां और दो भाईयों ने जान ले ली

उत्तराखंड में उधमसिंह नगर के काशीपुर में एक बेटी की हत्या सिर्फ इस लिए कर दी गई, क्योंकि वह खुले विचार रखती थी। मां और दो भाइयों को उसके आजाद विचार पसंद नहीं आए और उन्होंने उसे तड़पा-तड़पाकर मार दिया।

साहिबा हत्याकांड के मामले जिस बात का अंदेशा था, आखिर वही निकला। मामला ऑनर किलिंग का ही था। पुलिस ने सोमवार को हत्याकांड का खुलासा कर दिया। मां और दो भाइयों ने उसकी हत्या कर घर के आंगन में शव दबा दिया था। पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

पिछले शनिवार को ढेला बस्ती निवासी नाजिर की विवाहिता बेटी रुखसार ने कोतवाली में अपनी मां भूरी, भाई नाजिम और आरिफ के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। आरोप था कि इन लोगों ने उसकी छोटी बहन साहिबा को मारकर आंगन में दफना दिया है।

पुलिस ने बताई गई जगह से शव बरामद कर आरोपियों की धर-पकड़ के लिए टीम बनाई थी। टीम ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। सोमवार को कोतवाली में एएसपी कमलेश उपाध्याय ने पत्रकार वार्ता में साहिबा की हत्या का खुलासा करते हुए कहा कि वह खुले विचारों की थी, जो उसकी मां भूरी व भाइयों को पसंद नहीं था।

नौ मई को साहिबा दो लड़कों के साथ घूमने चली गई। तो उसकी मां उसे रेलवे स्टेशन से वापस ले आई। इससे खफा होकर मां और दोनों बेटों ने साहिबा की हत्या की योजना बनाई। अगली सुबह करीब चार बजे साहिबा जब सोयी हुई थी, तो आरिफ ने उसके सिर पर पाटल मार दिया। जब वह नहीं मरी तो मां ने छटपटा रही साहिबा के दोनों हाथ पकड़े और आरिफ ने गला घोंट दिया।

फिर तीनों ने मिलकर आंगन में गड्ढा खोदा और साहिबा को वहीं दफना दिया। सीओ ने बताया कि आरिफ को जींस टॉप पहन कर अपनी बहन का लड़कों के साथ घूमना पसंद नहीं था। ऑनर किलिंग के तीनों आरोपियों को पुलिस टीम ने सोमवार को दबोच लिया और धारा 145/15 धारा 302/201 के तहत गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी भाई से पुलिस के पूछने पर उसने मारने की बात कबूली और कहा कि उसे अपने किए पर कोई पछतावा नहीं है और न ही फांसी का डर है। हालांकि बेटी की हत्यारी मां को अपनी करनी पर पछतावा है। वह खुद ही मानती है कि अब बहुत देर हो गई है।

साहिबा की मां ने बताया कि उसकी बेटी नशे की गोली खाने की आदी थी। गोली खाए बिना वह नहीं रह सकती थी। नशा करने पर ही वह लड़कों के साथ मौज मस्ती करने निकल जाती थी। लोगों ने बताया हत्या का आरोपी आरिफ भी नशेड़ी है। एक बार तो उसने पुलिसकर्मी की मामूली डांट पर उस पर पथराव कर दिया था।