बेटी को मारकर आंगन में ही दफनाया, मां और भाई फरार

उत्तराखंड में उधमसिंह नगर जिले के काशीपुर में एक घर के आंगन में परिवार की ही युवती का सड़ा-गला शव दफन मिला। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

मामले की खबर मिलते ही तमाम आला पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का निरीक्षण किया है। युवती की बड़ी बहन हल्द्वानी, इंदिरा नगर निवासी रुकसार की शिकायत पर पुलिस ने उसकी मां भूरी देवी और दो भाइयों नाजिम व आरिफ के खिलाफ हत्या और सुबूत छुपाने के आरोप में मामला दर्ज किया है।

पुलिस ने फरार आरोपियों की धर-पकड़ के लिए तीन टीमें गठित की हैं। पुलिस ने ऑनर किलिंग की आशंका जताई है। ढेला बस्ती निवासी 16 वर्षीय शबाना पुत्री नाजिर हुसैन ने दिन में बांसफोडान पुलिस को बताया कि उनके घर के आंगन में उसकी बड़ी बहन 18 वर्षीय साहिबा का शव दफन किया गया है। उसने बताया कि उसकी बहन पंद्रह दिन से गायब थी।

खबर मिलते ही बांसफोड़ान चौकी प्रभारी एमएस धसौनी, कोतवाल वीके जेठा, एसआई अरुण कुमार, सीओ पीसी आर्या, एएसपी कमलेश उपाध्याय पुलिसकर्मियों के साथ घटनास्थल पर पहुंच गए। घर ही नहीं बल्कि गली तक दुर्गंध फैल रही थी।

honor_killingपुलिस ने किशोरी के बताए गए स्थान पर खोदा तो करीब तीन फीट गहरे गड्ढे में कपड़े में लिपटा शव मिल गया। गड्ढे में नमक भी डाला गया था ताकि शव गल जाए। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। घर में शबाना और हल्द्वानी से आई उसकी बड़ी बहन रुकसार के अलावा कोई नहीं था। उनकी मां और दोनों भाई गायब थे।

शबाना ने बताया कि वह अपने बड़ी बहन के घर हल्द्वानी में थी। वापस आने पर उसकी मां भूरी ने बताया कि साहिबा पंद्रह दिन से गायब है। उसके पिता नाजिर हुसैन यहां नहीं रहते हैं। मां सुबह ही नाना के घर भोजपुर गई है।

काफी दुर्गंध आने पर उन्होंने गड्ढा खोदा तो दुर्गंध और तेज आने लगी। इस पर उन्होंने पुलिस को सूचित किया। पुलिस ने पड़ोसियों से पूछताछ की तो कोई कुछ नहीं बता पाया।

कोतवाल वीके जेठा ने बताया कि अब तक की जांच पड़ताल में हत्या का कारण ऑनर किलिंग लग रहा है। हालांकि एएसपी कमलेश उपाध्याय कहते हैं कि अभी इस मामले में कुछ नहीं कहा जा सकता है।